पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Bihar Vidhansabha Monsoon Session Updates; Opposition Amendment To Engineering University Bill Failed To Pass

MLA की सही संख्या भांप न सके तेजस्वी, प्रस्ताव गिरा:विधानसभा में सत्तापक्ष के कम लोग देख तेजस्वी ने वोटिंग की मांग कर दी; स्पीकर ने घंटी बजा सबको बुला लिया

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधानसभा में सदस्यों की संख्या आज कम दिखी तो विपक्ष को लगा कि जीत उसकी हो जाएगी। - Dainik Bhaskar
विधानसभा में सदस्यों की संख्या आज कम दिखी तो विपक्ष को लगा कि जीत उसकी हो जाएगी।

बिहार विधानसभा में बुधवार को एक विधेयक पर वोटिंग की नौबत आ गई। विधेयक पर वोटिंग के दौरान एक वक्त ऐसा लग रहा था कि विपक्ष को जीत मिल सकती है, हालांकि अंतिम वक्त में सत्ता पक्ष संभला और वोटिंग में सदस्यों की संख्या ज्यादा हो गई। इस तरह विपक्ष का प्रस्ताव गिर गया और सत्ता पक्ष का विधेयक यथावत रह गया। असल में हुआ क्या था...

बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021 पर विपक्ष की ओर से प्रस्ताव लाया गया, जिसमें कहा गया कि कुलाधिपति राज्यपाल को बनाया जाए। सत्ता पक्ष की ओर के प्रस्ताव में मुख्यमंत्री के कुलाधिपति बनने की बात है। इस पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने वोटिंग की मांग कर दी। विधानसभा में सदस्यों की संख्या आज कम दिखी तो विपक्ष को लगा कि जीत उसकी हो जाएगी।

विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने विधायकों को बुलाने के लिए लगातार कई बार घंटी बजाई। इस दौरान सीएम और डिप्टी सीएम भी मौजूद नहीं थे। घंटी की आवाज सुन सत्ता पक्ष के कई विधायक अंदर आ गए। इसके बाद विधायकों की गिनती की गई। इसमें प्रस्ताव के पक्ष में 89 और विपक्ष में 110 वोट मिले। AIMIM के विधायकों ने ऐन वक्त पर तेजस्वी का साथ नहीं दिया। घंटी बजते ही वे बाहर निकल गए। वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। अब बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021 के मुताबिक सीएम ही कुलाधिपति होंगे।

वोटिंग के बाद राजद के भाई बीरेंद्र से भिड़े भाजपा विधायक

वोटिंग के बाद विधानसभा में भाजपा विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह और राजद विधायक भाई बीरेंद्र के बीच कहासुनी हो गई। राजद विधायक भाई बीरेंद्र बिपक्षी सदस्यों की गिनती को गलत बता रहे थे। कह रहे थे- विपक्ष के सदन में मौजूद सदस्यों की संख्या को कम गिना गया। भाई बीरेंद्र के बयान का तेजस्वी यादव ने किया समर्थन किया और जांच कराने की मांग विधानसभा अध्यक्ष से की।

इस पर भाजपा विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने भाई बीरेंद्र की मानसिक जांच कराने का सुझाव दिया। इस पर भाई बीरेंद्र की ओर से टिप्पणी की गई, तो विधानसभा अध्यक्ष ने कहा- आप दोनों पड़ोसी हैं और एक- दूसरे के प्रिय हैं। क्या भाई बीरेंद्र ने आपको मनेर का लड्डू नहीं खिलाया है?

सत्र के तीसरे दिन तीन विधेयक हुए पारित

विधानमंडल के मानसून सत्र का बुधवार को तीसरा दिन है। आज की कार्रवाई में अभी तक तीन विधेयक पारित हुए हैं। ये हैं - बिहार माल और सेवा कर (संशोधन) विधेयक 2021, बिहार राजकोषीय उत्तरदायित्व एंव बजट प्रबंधन (संशोधन) विधेयक 2021 और बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021। बिहार अभियंत्रण विश्वविद्यालय विधेयक 2021 पर तेजस्वी यादव ने वोटिंग की मांग की।

सत्र के दूसरे दिन तीन विधेयक पारित हुए थे

विधानमंडल के मानसून सत्र का दूसरा दिन मंगलवार को हंगामेदार रहा था। विपक्ष की गैर मौजूदगी में ही विधानसभा से तीन विधेयक पारित किए गए थे। आर्य भट्ट ज्ञान विवि संशोधन विधेयक- 2021 और बिहार खेल विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक को मंजूरी मिली थी। इसके अलावा बिहार स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2021 को भी मंजूरी मिल गई थी।

खबरें और भी हैं...