• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • BJP MP Sushil Modi Demand Ban On Obscenity Songs In Bhojpuri And Magahi; Bihar Latest News

अश्लील गानों के जरिए भोजपुरी-मगही को किया जा रहा बर्बाद:BJP सांसद सुशील मोदी ने की रोक की मांग, बोले- अनुमति से निकलती है बारात तो अश्लीलता और दबंगई कैसे करते हैं लोग

पटनाएक वर्ष पहलेलेखक: शालिनी सिंह
  • कॉपी लिंक
सुशील कुमार मोदी, राज्यसभा सांसद, भाजपा। - Dainik Bhaskar
सुशील कुमार मोदी, राज्यसभा सांसद, भाजपा।

भोजपुरी और मगही भाषा को दूषित कर रहे अश्लील गानों पर भाजपा सांसद सुशील मोदी ने रोक लगाने की मांग की है। सुशील मोदी से पहले कई कलाकारों ने भी इसको लेकर आवाज उठाई थी। हाल ही में भाजपा सांसद और भोजपुरी सुपर स्टार रविकिशन ने भी इस मसले को उठाया था। लेकिन, सुशील मोदी इसके साथ ही बिहार में शराब के मसले पर भी गंभीर सवाल खड़े कर दिये हैं । बिहार के सुमो ने कहा है कि शादियों में अश्लील गानों पर पिंजरानुमा गाड़ियों में लड़कियों से डांस कराया जाता है। यह गलत है। इस पर रोक लगनी चाहिए।

हर्ष फायरिंग पर भी लगे रोक-सुशील मोदी

भाजपा के राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने भोजपुरी और मगही के दुरुपयोग का मामला उठाया है । उन्होंने कहा है कि हिंदी भाषी बिहार के विभिन्न अंचलों में कई बोलियां प्रचलित है। लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भोजपुरी और मगही में अश्लील ऑडियो-वीडियो बनाया जा रहा है । सुशील मोदी का कहना है कि ऐसे ऑडियो और वीडियो के जरिये महिलाओं को अपमानित-लज्जित करने का काम किया जा रहा है। शराबबंदी का उदाहरण देते हुए सुशील मोदी ने राज्य सरकार से अश्लील गानों और वीडियो पर भी सख्ती से रोक लगाने की मांग की है ।

पिंजरानुमा वाहनों में लड़कियों की अश्लील ढंग से हो रही नुमाइश

भाजपा नेता ने शादियों में बारात को संस्कृति का हिस्सा बताया है। लेकिन बारात के दौरान पिंजरानुमा वाहनों में लड़कियों की अश्लील ढंग से नुमाइश करने को दुस्साहस करार दिया है। बारात में शराब पीकर नाचना और हर्ष फायरिंग को उन्होंने सामाजिक विकृति बताया है। अपने बयान के आखिरी लाइनों में सुशील मोदी ने प्रशासन को भी सवालों के घेरे में लिया है ।

उन्होंने प्रशासन से पूछा है कि जब बारात प्रशासन की अनुमति के बिना नहीं निकलती, तब प्रशासन को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बारात में कोई भी व्यक्ति अश्लीलता, शराबखोरी और दबंगई दिखाने का दुस्साहस न कर सके। उन्होंने इन मामलों को बिहार को शर्मसार करने वाली प्रवृत्ति बताया है। साथ ही इस पर अंकुश लगाने की मांग की है ।

खबरें और भी हैं...