BPSC ने निकाली नए साल की पहली वैकेंसी:सहायक लोक स्वच्छता एवं अपशिष्ट प्रबंधन विकास पदाधिकारी के 286 पदों पर मांगा आवेदन, 10 फरवरी तक मौका

पटना3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

BPSC ने नए साल में एक नई बहाली निकाली है। नगर विकास एवं आवास विभाग, बिहार के अंतर्गत सहायक लोक स्वच्छता एवं अपशिष्ट प्रबंधन पदाधिकारी के कुल 286 पदों पर नियुक्ति के लिए योग्य उम्मीदवारों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं।

ऑनलाइन आवेदन प्रारंभ करने की तिथि 17 जनवरी 2022 और अंतिम तिथि 10 फरवरी 2022 है। आयोग कार्यालय में स्पीड पोस्ट या निर्धारित डाक से आवेदन की हार्ड कॉपी और सभी प्रमाण पत्र प्राप्त होने की अंतिम तिथि 24 फरवरी 2022, शाम 5 बजे तक निर्धारित की गई है।

विस्तृत जानकारी की यहां करें पड़ताल

इस नियुक्ति से जुड़ी विस्तृत जानकारी www.bpsc.bih.nic.in पर प्राप्त कर सकते हैं। आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेन्द्र कुमार ने बताया, 'अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन भरने की प्रक्रिया शुरू करने के पूर्व वेबसाइट पर दिए गए विस्तृत विज्ञापन और ऑनलाइन आवेदन भरने के लिए आवश्यक और विस्तृत निर्देश का सही तरीके से अध्ययन जरूर कर लें।'

दो पत्रों की परीक्षा होगी, प्रथम पत्र सामान्य अध्ययन से जुड़े वस्तुनिष्ट होंगे

बता दें, इस पद के लिए परीक्षा दो पत्रों की होगी, जिसमें अनिवार्य पत्र एक और अनिवार्य पत्र दो होंगे। प्रथम पत्र सामान्य अध्ययन से जुड़े वस्तुनिष्ठ होंगे। अनिवार्य पत्र द्वितीय में रसायन- पर्यावरण विज्ञान अथवा रसायन/ सिविल/ पर्यावरण विज्ञान-लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण की अथवा प्लानिंग और आर्किटेक्चर के लिए होंगे। इसकी पूरी जानकारी के लिए यहां लिंक दिया जा रहा है। आयोग की साइट पर जाकर इसे ठीक से समझ लें - https://www.bpsc.bih.nic.in//Advt/NB-2022-01-14-03.pdf

200 अंकों की परीक्षा ली जाएगी

अनिवार्य पत्र एक समान अध्ययन विषय का होगा, जिसकी परीक्षा की अवधि 2 घंटे होगी और प्राप्तांक एक सौ होंगे। अनिवार्य पत्र द्वितीय में परीक्षा ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन से जुड़ी होगी, जिसकी अवधि भी 2 घंटे की होगी और प्राप्तांक 100 होंगे। यानी कुल 200 अंकों की परीक्षा होगी। इसमें इंटरव्यू नहीं होगा।

परीक्षा किस स्तर की होगी जानिए

पत्रों का स्तर ऐसा होगा, जो किसी भारतीय विश्वविद्यालय के रसायन शास्त्र या पर्यावरण विज्ञान में स्नातक अथवा रसायन/ सिविल/ पर्यावरण विज्ञान/ लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण/ जैव प्रावैधिकी में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग/ बीटेक की डिग्री अथवा प्लानिंग आर्किटेक्चर में बैचलर की डिग्री के लिए समीचीन होगा।