पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Buxar Police Arrested Suspended Bank Manager In Patna; Accused In Bank Corruption Case

पुलिस गिरफ्त में घोटालेबाज बैंक मैनेजर:दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के सस्पेंड मैनेजर को बक्सर पुलिस ने किया गिरफ्तार, 200 कस्टमर के अकाउंट से 1 करोड़ से अधिक रुपए निकालने का आरोप

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घेरे में आरोपी बैंक मैनेजर रविशंकर कुमार।- फाइल - Dainik Bhaskar
घेरे में आरोपी बैंक मैनेजर रविशंकर कुमार।- फाइल

दक्षिण बिहार बैंक के ब्रांच मैनेजर रविशंकर कुमार को बक्सर की पुलिस ने पटना से गिरफ्तार किया है। बक्सर से आई पुलिस टीम ने बगैर पटना पुलिस को जानकारी दिए बोरिंग रोड के हिमगिरी अपार्टमेंट में छापेमारी की। वहां अपने परिवार के साथ रह रहे रविशंकर कुमार को गिरफ्तार किया और अपने साथ लेकर चली गई। गिरफ्तार किए गए मैनेजर पर 1 करोड़ से अधिक के गबन का आरोप है।

रिश्तेदारों को ट्रांसफर की रकम
रविशंकर की पोस्टिंग दक्षिण बिहार बैंक के बक्सर जिले में आशा पड़री गांव के ब्रांच में थी। आरोप है कि ड्यूटी के दौरान इन्होंने बैंक 200 से अधिक कस्टमर्स के अकाउंट में सेंधमारी की। फर्जी चेक के जरिए उन कस्टमर्स के अकाउंट्स से अवैध तरीके से रुपयों की निकासी की। RTGS के जरिए उन रुपयों को अपनी पत्नी, पिता और दूसरे रिश्तेदारों के बैंक अकाउंट्स में ट्रांसफर किया। इस घोटाले को रविशंकर चुपचाप तरीके से अपने कुछ खास लोगों की मदद से अंजाम दे रहा था। यह बात तब सामने आई, जब एक कस्टमर अपने अकाउंट से रुपए निकालने आशा पड़री ब्रांच पहुंचा था। यह बात पिछले सप्ताह की है। बैंक की तरफ से कस्टमर को कहा गया कि आपके अकाउंट में तो रुपए हैं नहीं। इसके बाद कस्टमर के होश उड़ गए थे।

जांच रिपोर्ट के बाद सस्पेंड हुआ था बैंक मैनेजर

कस्टमर ने कहा कि जब रुपए निकाले ही नहीं, तो ऐसा कैसे हुआ? इसके बाद ही ब्रांच के अंदर हड़कंप मच गया। बात भभुआ स्थित रिजनल ऑफिस तक जा पहुंची। इसी बीच कुछ और कस्टमर्स के साथ भी ऐसा ही हुआ। जिसके बाद मामला पटना स्थित हेड ऑफिस तक जा पहुंचा। फिर इस मामले में बैंक ने अपनी विजिलेंस टीम से इंटरनल जांच कराई। जिसके बाद चौंकाने वाले खुलासे हुए। बैंक की विजिलेंस जांच के दरम्यान पूरी असलियत सामने आई। किस तरह से मैनेजर रविशंकर कुमार अपने कस्टमर्स के रुपयों को लूट रहा था, इसकी पूरी कहानी सामने आ गई थी। विजिलेंस टीम की जांच रिपोर्ट के आते ही बैंक ने रविशंकर को सस्पेंड कर दिया था।

बयान देने से बच रहे हैं अधिकारी
इस मामले में रीजनल मैनेजर विकास कुमार भगत ने बक्सर के सेमरी थाने में रविशंकर, उमेश सिंह, आरती देवी सहित कुल 5 लोगों के खिलाफ FIR तीन दिन पहले दर्ज कराई थी। पुलिस की जांच में पता चला कि उमेश सिंह रविशंकर के पिता हैं और आरती उनकी पत्नी का नाम है। इनके अकाउंट्स में ही रविशकंर ने कस्टमर्स के अकांउट्स से फर्जी निकासी के बाद रुपयों को ट्रांसफर किया था। अब रविशंकर को बक्सर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पकड़ा गया मैनेजर मूल रूप से पटना जिले के ही गोपालपुर इलाके का रहने वाला है। अब इस मामले में पुलिस उन लोगों पर भी दबिश बनाएगी, जिनके अकाउंट्स में रुपयों को ट्रांसफर किया गया था। फिलहाल इस मामले में बक्सर पुलिस और बैंक के सीनियर अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...