• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Car Fell In River In Gaya; One Person Died In Accident; Bihar Road Accident Latest News

पुल से 40 फीट नीचे नदी में गिरी कार:गया में ड्राइव कर रहे अकाउंटेंट की गर्दन दो सीटों के बीच फंसी, मौके पर ही मौत, संकरी पुलिया पर आए दिन होता है हादसा

गया4 महीने पहले
गया में नदी में गिरी कार।

गया में मंगलवार सुबह करीब 11 बजे चेरकी-शेरघाटी रोड स्थित बेल्थु पुलिया पर सड़क हादसे में एक की जान चली गई। ग्रामीण कार्य विभाग शेरघाटी में अकाउंटेंट के पद पर कार्यरत पंकज कुमार सिंह अपनी कार समेत पुलिया से करीब 40 फीट नीचे नदी में गिर गए। स्थानीय लोग जब नदी के पास उतरे तो देखा कि ड्राइव कर रहे पंकज कुमार की गर्दन दो सीटों के बीच लटकी हुई थी। हादसे के तुरंत बाद उनकी मौत हो गई।

पुलिस ने युवक को निकाला बाहर

स्थानीय विकास कुमार ने बताया कि गांव के लड़के लोहे की पुलिया से गुजर रहे थे। इसी बीच नदी में मारुति 800 कार समाई हुई नजर आई। नदी में उतर कर देखा तो पाया कि उसमें एक आदमी ड्राइविंग सीट पर बेसुध पीछे की ओर पड़ा है। उसकी गर्दन दो सीटों के बीच पीछे लटकी हुई थी। इस घटना की सूचना तुरंत मेडिकल थाने की पुलिस को दी गई। मौके पर पुलिस पहुंची और सबसे पहले कार में सवार युवक को बाहर निकाला गया तो पता चला कि उनकी मौत हो चुकी है।

कागजात से मृतक की हुई पहचान

शव को कब्जे में लेकर पुलिस की एक टीम थाने चली गई और दूसरी टीम कार को नदी से क्रेन से निकलवाने में जुट गई है। कार का नंबर झारखंड का है। इधर, मेडिकल थाने की पुलिस ने बताया कि कार से बरामद फाइलों से पुलिस को लग रहा था कि मृतक कोई इंजीनियर है। मगर कार से मिले कागजात के आधार पर शेरघाटी SDO और ग्रामीण कार्य विभाग सूचना दी गई तो वहां से फोन पर ही पुष्टि की गई है कि कार सवार पंकज सिंह हैं, जो ग्रामीण विभाग में अकाउंटेंट हैं।

पुलिस को परिजनों का इंतजार

कार में पंकज कुमार अकेले ही थे। वह कहां से आ रहे थे और कहां जा रहे थे, इस बात की जानकारी अब तक नहीं हो सकी है। वहीं घटना की सूचना पंकज के परिजनों को दी गई है। उनके परिजन पटना में रहते हैं। वे वहां से गया के लिए चल चुके हैं। शव को मेडिकल थाने की पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

हालांकि, विभाग की ओर से कार दुर्घटना में पंकज के ही मारे जाने की पुष्टि की गई है, लेकिन पुलिस उनकी बातों को नहीं मान रही है। पुलिस का कहना है कि जब तक उनके परिजन पुष्टि नहीं करते हैं तब तक यह नहीं माना जाएगा कि पंकज की ही मौत हुई है।

अक्सर इस पुल पर होता है हादसा

गया से चेरकी होते हुए शेरघाटी मार्ग पर बेल्थु गांव पड़ता है। बेल्थु के निकट ही लोहे की संकरी पुलिया है। उसके बगल में एक सीमेंट की भी पुलिया है। पुल के पास पहुंचते ही वाहन चालक यह तय नहीं कर पाते कि उन्हें किस रास्ते से आगे बढ़ना है। कई वाहन चालक लोहे की पुलिया से निकल लेते हैं तो कई सीमेंट की पुलिया से आगे बढ़ते हैं।

सीमेंट की पुलिया हाल ही में बनकर तैयार हुई है। वहीं लोहे की पुलिया का मुहाने पर ही रेलिंग टूटी हुई है। इसकी वजह से जो भी इस रास्ते जाते हैं और थोड़ी सी भी चूक होती है तो वह नदी में वाहन समेत नजर आते हैं। रेलिंग नहीं होने से यहां अब तक आधा दर्जन से अधिक लोगों की जान जा चुकी है।

हालांकि, गांव के लोगों रेलिंग बनाए जाने की मांग से संबंधित बातें चंदौती प्रखंड कार्यालय से की है। BDO को भी लिखित में सूचना दी गई है, लेकिन अब तक कोई लाभ नहीं हुआ है।

खबरें और भी हैं...