पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

देव सूर्य मंदिर:श्रद्धालुओं का आक्रोश देख खोला गया सूर्य कुंड का गेट, छठ व्रतियों ने दिया अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य

पटना3 दिन पहले
देव सूर्य मंदिर के कुंड में अर्घ्य देते छठ व्रती।
  • आक्रोशित श्रद्धालुओं ने कुंड का गेट तोड़ने की धमकी दी थी
  • उनका कहना था कि कोरोना में चुनाव कराया गया तो सूर्य कुंड में पूजा क्यों नहीं हो सकती

देव सूर्य कुंड पर छठ व्रतियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया। श्रद्धालुओं के दबाव पर आखिरकार सूर्य कुंड के गेट को खोलना पड़ा। गेट खुलते ही कुंड के अंदर छठव्रती जुटने लगे। इससे पहले कुंड का गेट बंद किये जाने को लेकर लोगों में काफी काफी आक्रोश था। छठ व्रतियों के परिजनों का कहना था कि एक घंटे के अंदर गेट नहीं खुला तो ताला तोड़ दिया जाएगा।

प्रशासन की गाड़ी को घेर कर कुंड का गेट खुलवाने की मांग कर रहे लोग।
प्रशासन की गाड़ी को घेर कर कुंड का गेट खुलवाने की मांग कर रहे लोग।

गुरुवार को प्रशासन की ओर तय किया गया था कि सूर्य कुंड नहीं खोला जाएगा। यह भी तय किया गया था कि परंपरा न टूटे इस बात का ख्याल रखते हुए कोई एक परिवार, जिसके यहां छठ हो रहा है, उनसे अर्घ्य दिला दिया जाएगा। लेकिन, दोपहर को श्रद्धालुओं के भारी दबाव और देव विधायक आनंद शंकर की पहल पर प्रशासन की ओर से सूर्य कुंड का गेट खोल दिया गया।

अरवल-आरा और अन्य जिलों से आए श्रद्धालुओं का कहना था कि चुनाव के दौरान भी कोरोना था फिर भी चुनाव कराया गया तो देव सूर्य कुंड में पूजा-अर्चना क्यों नहीं हो सकती। इनका यह भी कहना था कि हमलोग हजारों रुपए खर्च कर यहां आए हैं। पटना में श्रद्धालुओं की अपार भीड़ जुटी है तो वहां कोई रोक नहीं है, फिर औरंगाबाद प्रशासन प्रतिबंध क्यों लगा रहा है।

इसको लेकर देव BDO का सूर्य कुंड के पास श्रद्धालुओं द्वारा घेराव भी किया। श्रद्धालुओं ने मुख्य द्वार को घेर लिया था। सूर्य कुंड देव के मुख्य गेट पर SDO भी पहुंच गए। लोग प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के बीच चली बातचीत

लोगों का कहना था कि जल्द सूर्य कुंड का गेट नहीं खुला तो गेट तोड़ दिया जाएगा। इधर, स्थानीय लोगों में चर्चा थी कि जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के बीच बातचीत चल रही है। श्रद्धालुओं का कहना है कि कुंड बीते दस माह से बंद है। बन्द होने की वजह से कुंड की सफाई भी नहीं की गई है। लोगों का कहना था कि प्रशासन ऐसा निर्णय ले जो श्रद्धालुओं के हित में हो।

सूर्य कुंड में अर्घ्य देने को तैयार व्रती।
सूर्य कुंड में अर्घ्य देने को तैयार व्रती।

परंपरा का सम्मान:देव सूर्य मंदिर के कुंड में छठ पर एक ही परिवार देगा अर्घ्य, मंदिर समिति करेगी चुनाव

पुण्यार्क सूर्य मंदिर:मगध के 5 सूर्य मंदिरों में सबसे श्रेष्ठ है पटना का पुण्यार्क मंदिर

देव सूर्य मंदिर के कुंड में इस बार छठ पर्व में कोरोना संक्रमण को लेकर स्नान या अर्घ्य देने की मनाही का फैसला मंदिर समिति और प्रशासन की ओर से लिया गया। मंदिर भी 17 नवंबर से बंद कर दिया गया था। मंदिर के 21 गेट पर पुलिस फोर्स और मंदिर समिति के सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं। एसडीओ प्रदीप कुमार ने बताया कि छठ पर देव सूर्य मंदिर में लाखों श्रद्धालु जुटते हैं और वे तालाब में ही स्नान करते हैं। पानी से कोरोना संक्रमण ने फैले, इसलिए पाबंदी लगाई गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें