पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Chhath Puja Song 2020, Patna Update; Bihari Folk Singer Nitu Kumari Navgeet Geet Being Liked On Chhath

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लोकआस्था की गूंज:छठ पर खूब पसंद किये जा रहे मगही और मैथिली में गाए लोकगायिका नीतू नवगीत के गीत

पटना6 दिन पहले
पटना की लोकगायिका नीतू नवगीत।
  • बिहार की तीन अलग-अलग भाषाओं में छठ पर गाए हैं गीत
  • घर-घर में गूंज रहे मगही, मैथिली और भोजपुरी में गाए नीतू के गीत

छठ की शोभा लोकगीतों से ही है। पटना में पर्व के एक हफ्ते पहले से ही घर-घर से छठ के लोकगीतों की आवाजें आने लगती हैं। जिन लोकगायिकाओं के स्वर अभी हमारे घर-आंगन में गूंज रहे हैं, उनमें से एक नाम नीतू नवगीत का भी है।

छठ महापर्व का आज खरना है। व्रती पूजा-पाठ में लगे हैं। लोकगीत गायिका नीतू नवगीत के घर पर भी छठ हो रहा है। उनके पति व रेलवे अधिकारी दिलीप कुमार खुद छठ पूजा कर रहे हैं। इसके बाद भी लोकगायिका नीतू नवगीत दैनिक भास्कर के बुलावे पर गुरुवार को ऑफिस पहुंची। एक छोटी-सी मुलाकात में उन्होंने अपने उन तीन गीतों को गया, जो इस बार की छठ पूजा पर रिलीज हुए हैं। खास बात यह है कि मधुर आवाज में गाए ये तीनों गीत बिहार की ही तीन अलग-अलग भाषाओं में है।

मगही में गाये गीत में छठ की पौराणिकता की झलक
'चननी तानले चलथि रघुवीर सेवका घुटी भर धोती भींजे' गीत को नीतु ने मगही में गाया है। संगीत ब्रज बिहारी मिश्रा ने तैयार किया है । वे बताती हैं कि सबसे पहले छठ व्रत सीता मइया ने गंगा नदी के तट पर मुंगेर में किया था। इस बात का जिक्र रामायण में भी है। इसी आधार पर इस गीत को लिखा गया है।

' सोना षट्कोनिया हो दीनानाथ हे घुमइछा संसार...' नीतू नवगीत ने इस पारंपरिक लोकगीत को मैथिली में गाया है। भोजपुरी में नीतू नवगीत ने कौने खेत जनमल धान-सुधान हो, कौने खेत डटहर पान हे माई गीत गाया है। इस पारंपरिक गीत का धुन मनोज बिहारी ने तैयार किया है।

छठ गीतों की समृद्ध परंपरा
लोक गायिका नीतू नवगीत ने बताया कि छठ गीतों की समृद्ध परंपरा रही है। विंध्यवासिनी देवी और शारदा सिन्हा ने जो छठी मइया के गीत गाए हैं, वह अभी लोगों की जुबान पर हैं। बिहार के अलग-अलग जिलों में अलग-अलग पारंपरिक छठ गीत गाए जाते हैं। छठ पर्व के दौरान इन गीतों का बहुत महत्व होता है। वस्तुतः लोकगीतों के बिना छठ पर्व अधूरे लगते हैं। छठ गीतों में उन सभी प्रतीकों और सामग्रियों की चर्चा मिलती है, जिनका प्रयोग इस लोक पर्व के मनाने के दौरान किया जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें