पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पारस को LJP से मंत्री बनाया तो कोर्ट जाएंगे चिराग:पारस के LJP कोटा से मंत्री बनाए जाने पर चिराग को एतराज, कहा- उन्हें अलग गुट या निर्दलीय सांसद के रूप में मंत्री बनाएं

पटना20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पशुपति कुमार पारस और चिराग पासवान। - Dainik Bhaskar
पशुपति कुमार पारस और चिराग पासवान।

केंद्र में नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार हो रहा है। संभावित मंत्रियों की सूची तैयार कर ली गई है। LJP के पशुपति पारस का केंद्र में मंत्री बनना तय हो गया है। इस पर उनके भतीजे चिराग पासवान और उनकी पार्टी के नेता खासा नाराज चल रहे हैं। उनका कहना है कि पशुपति पारस को LJP कोटा से केंद्र में मंत्री ना बनाया जाए, यदि मंत्री बनाया जाना ही है तो उन्हें कोई अलग गुट की मान्यता दे दी जाए या फिर उन्हें निर्दलीय सांसद घोषित करके मंत्री बनाया जाए। इस पूरे प्रकरण को लेकर चिराग पासवान सुप्रीम कोर्ट जाने का भी मन बना रहे हैं। चाचा को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में मान्यता देने के लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला के फैसले के खिलाफ चिराग पासवान पहले सुप्रीम कोर्ट में जाने की बात कह चुके हैं। अब पारस को मंत्री बनाए जाने पर भी उन्होंने कोर्ट का रुख करने की बात कह दी है।

LJP को तोड़कर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने पशुपति पारस अब केंद्र में मंत्री बनने जा रहे हैं। पशुपति पारस ने पिछले दिनों ही अपने भतीजा चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाकर 5 सांसदों के साथ लोकसभा अध्यक्ष के सामने अपने आप को LJP का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष पेश किया था। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने भी पशुपति पारस को LJP संसदीय दल का नेता घोषित कर दिया और सूची में अपडेट भी करा दिया। इधर, चिराग पासवान ने अपने दल LJP पर दावा बरकरार रखा। चिराग पासवान के मुताबिक LJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष वही हैं और उन्होंने पशुपति पारस समेत पांचों सांसदों को निलंबित कर दिया है।

पशुपति पारस को PMO से आया फोन
इसके बावजूद पशुपति पारस को PMO से फोन आया कि आप बुधवार की शाम मंत्रिमंडल में शामिल हो रहे हैं। आपको शपथ लेना है। इस पर चिराग पासवान के LJP में खलबली मच गई। चिराग पासवान LJP के प्रदेश अध्यक्ष राजू तिवारी ने साफ तौर पर कहा पशुपति पारस यदि केंद्र में मंत्री बनते हैं तो उससे कोई एतराज नहीं है। लेकिन, LJP कोटा से वह मंत्री बनेंगे तो इसको लेकर एतराज है। राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। राजू तिवारी कहते हैं कि यदि पारस को मंत्री बनाना है तो उन्हें अलग गुट की मान्यता देकर मंत्री बना दिया जाए या फिर उन्हें निर्दलीय सांसद करार देकर केंद्र में मंत्री बना दिया जाए। इसको लेकर कोई विवाद नहीं होगा, लेकिन केंद्र सरकार में यदि वह LJP कोटा से मंत्री बनेंगे तो कानूनी लड़ाई के लिए तैयार है।

5 जुलाई को ही रामविलास पासवान की जयंती पर पशुपति पारस और चिराग पासवान ने अलग-अलग समारोह करके अपना-अपना शक्ति प्रदर्शन किया था। पशुपति पारस ने पटना में जयंती समारोह मनाया था तो चिराग पासवान ने पशुपति पारस के संसदीय क्षेत्र हाजीपुर में जाकर अपना शक्ति प्रदर्शन दिखाया और वहां से आशीर्वाद यात्रा लेकर निकले। ठीक उसके 2 दिन बाद ही मंत्रिमंडल का विस्तार हो रहा है। कयास लगाया जा रहा था कि BJP चिराग पासवान के शक्ति प्रदर्शन के बाद अपना रुख बदल सकती है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि पशुपति पारस को PMO से मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए फोन जा चुका है।

खबरें और भी हैं...