पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MP, MLC, MLA की बात सुनेंगे ही अधिकारी:CM नीतीश कुमार ने कहा- इन लोगों ने बाढ़ वाले इलाकों पर फीडबैक दिया है, उसके अनुसार ही करें काम

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार के बाढ़ग्रस्त इलाकों में जनप्रतिधियों के सुझाव पर ही अधिकारी काम करेंगे। इसे लेकर CM नीतीश कुमार ने सभी अधिकारियों को निर्देश दे दिया है। कोरोना के साथ-साथ बिहार सरकार बाढ़ से निपटने की तैयारी में जुट गई है। इसको लेकर CM नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य में बाढ़ की तैयारियों के संबंध में MP, MLC, MLA के साथ प्रमंडलवार बैठक में प्राप्त सुझावों से संबंधित समीक्षा बैठक की।

बैठक के दौरान जनप्रतिनिधियों ने अपने-अपने क्षेत्र से संबंधित बाढ़ पूर्व कार्यों और भावी परियोजनाओं को लेकर महत्वपूर्ण सुझाव दिए। इस बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारी भी जुड़े थे, जिसमें CM ने कई निर्देश अधिकारियों को दिए।

CM ने कहा कि विशेष अभियान चलाकर बरसात के पूर्व पुल-पुलियों की सफाई कार्य पूर्ण करें।
CM ने कहा कि विशेष अभियान चलाकर बरसात के पूर्व पुल-पुलियों की सफाई कार्य पूर्ण करें।

15 जून तक पूरी करें बाढ़ पूर्व तैयारियां

समीक्षा के दौरान CM ने कहा कि MP, MLC, MLA के साथ विभागों की बैठक प्रमंडलवार हुई थी, जिसमें जनप्रतिनिधियों के द्वारा बाढ़ से बचाव की तैयारियों को लेकर महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए थे। इन सुझावों से बाढ़ पूर्व की तैयारियों में काफी सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों ने अपने-अपने क्षेत्र के फीडबैक भी संबंधित विभागों को दिए हैं, इससे भावी योजनाओं के निर्माण में भी मदद मिलेगी। जनप्रतिनिधियों के सुझावों को ध्यान में रखते हुए सभी विभाग कार्य करें।

उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त हुए सड़कों, पुल-पुलियों की पुर्नस्थापना को प्राथमिकता के साथ 15 जून तक पूर्ण करें। सभी पथों और ब्रिजों का अनुरक्षण करें। यह सुनिश्चित करें कि सभी निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण हो।

बाढ़ प्रक्षेत्र की सड़कों पर विशेष नजर रखें विभाग

CM नीतीश कुमार ने कहा कि तटबंधों की ऊंचीकरण, पक्कीकरण और सुदृढ़ीकरण कार्य को तेजी से पूर्ण करें। बाढ़ सुरक्षा हेतु बचे हुए सभी कटाव निरोधक कार्य एवं बाढ़ सुरक्षात्मक कार्य को जल्द पूरा करें। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान चलाकर बरसात के पूर्व पुल-पुलियों की सफाई कार्य पूर्ण करें। पथ निर्माण विभाग और ग्रामीण कार्य विभाग बाढ़ प्रक्षेत्र की सड़कों पर विशेष नजर रखें। बाढ़ को लेकर सभी अधिकारी पूरी तरह सचेत रहें, ताकि किसी भी परिस्थिति से निपटा जा सके। लोगों के बचाव की पूरी तैयारी रखें। उन्होंने कहा कि लोगों की सहायता एवं सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है।

खबरें और भी हैं...