'धूप' से बचेंगे सुशासन बाबू:दिल्ली से पटना लौटे CM नीतीश, बोले- सफल रहा दोनों आंखों का ऑपरेशन, अभी डॉक्टर ने बाहर निकलने से मना किया है

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली से पटना लौटने पर मीडिया से बात करते CM नीतीश कुमार। - Dainik Bhaskar
दिल्ली से पटना लौटने पर मीडिया से बात करते CM नीतीश कुमार।

CM नीतीश कुमार बुधवार को दिल्ली से 8 दिनों के प्रवास के बाद पटना लौट आए हैं। CM जब पटना आए तो आंखों पर काला चश्मा लगाए हुए थे। वे अपनी कार से उतरे नहीं। पटना एयरपोर्ट पर तमाम मीडिया कर्मी CM का इंतजार कर रहे थे, लेकिन नीतीश कुमार ने कार के अंदर से ही कहा कि दोनों आंखों का ऑपरेशन सफल रहा। अभी डॉक्टरों ने बाहर धूप में न निकलने की सलाह दी है।

मुख्यमंत्री इतना कहते हुए आगे निकल गए। पिछले 8 दिनों से CM नीतीश कुमार अपनी आंखों के इलाज के लिए दिल्ली में थे। दिल्ली के एम्स में नीतीश कुमार की आंखों का ऑपरेशन किया गया।

फेम्टो लेजर के साथ फेको विधि से हुआ ऑपरेशन

CM नीतीश कुमार को मोतियाबिंद के ऑपरेशन के लिए दिल्ली के एम्स जाना पड़ा था। दिल्ली एम्स में फेम्टो लेजर के साथ फेको विधि से उनके मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया गया है। इस तकनीक का फायदा यह है कि एक आंख के ऑपरेशन के बाद दूसरी आंख का ऑपरेशन दो-तीन दिन बाद कराया जा सकता है। पहले यह होता था कि एक ऑपरेशन के कई सप्ताह के बाद ही दूसरी आंख के मोतियाबिंद का ऑपरेशन किया जाता था। नीतीश कुमार की आंखों का भी ऑपरेशन तीन दिनों के अंतराल पर किया गया।

डॉ. JS टिटियाल ने किया ऑपरेशन

दिल्ली एम्स में डॉ. JS टिटियाल ने CM नीतीश कुमार की आंख का ऑपरेशन किया है। टिटियाल का नाम आंखों की सर्जरी में काफी ऊंचा है। पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत प्रणव मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सरीखे नेताओं की आंखों का ऑपरेशन इन्होंने ही किया था। फेम्टो लेजर मशीन 4 करोड़ रुपए में आती है, लेकिन सिर्फ मशीन लगा लेने से सफल ऑपरेशन नहीं हो जाता। उसके लिए स्किल्ड सर्जन की भी जरूरत पड़ती है। डॉ टिटियाल इसके विशेषज्ञ माने जाते हैं। पूरे देश में इनका आंखों के सर्जन के रूप में काफी नाम है।

खबरें और भी हैं...