CM बोले- इंटर स्टेट बॉर्डर चेक प्वाइंट पर करें जांच:अधिकारियों से कहा- विशेष अभियान चलाकर डोर-टू-डोर सर्वे कर कराएं टीकाकरण

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना को देखते हुए में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों जरूरी दिशा निर्देश दिए है। - Dainik Bhaskar
कोरोना को देखते हुए में मुख्यमंत्री ने अधिकारियों जरूरी दिशा निर्देश दिए है।

बिहार में त्योहारों को लेकर सरकार से लेकर अधिकारी तक सचेत है। कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों जरूरी दिशा निर्देश दिए है। इसको लेकर एक अन्ने मार्ग में CM नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।

इस बैठक में अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि 18, 19 और 20 अक्टूबर को कोरोना टीकाकरण को लेकर डोर-टू-डोर अभियान चलाया गया था जिसमें अभी तक टीका नहीं लेने वाले लोगों को चिन्हित किया गया है। बचे हुए लोगों के टीकाकरण को लेकर 28 अक्टूबर और 7 नवंबर को विशेष अभियान चलाया जायेगा।

दीपावली और छठ महापर्व को देखते हुए 25 अक्टूबर से 20 नवंबर तक स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। 25 अक्टूबर से प्रतिदिन सवा दो लाख कोरोना टेस्टिंग का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

बैठक में CM नीतीश कुमार ने अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए जो इस तरह से है

  • 25 अक्टूबर और 7 नवंबर को कोरोना टीकाकरण के लिए चलाये जाने वाले विशेष अभियान की पूरी तैयारी रखें। डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान चिन्हित किये गये बचे हुए लोगों का टीकाकरण तेजी से करायें। साथ ही एक बार फिर से सर्वे करा लें ताकि कोई भी कोरोना टीका लेने से वंचित न रहे।
  • दीपावली एवं छठ महापर्व में देश के अन्य राज्यों में रह रहे बिहार के लोग बड़ी संख्या में यहां आते हैं, उनकी कोरोना जांच कराएं। अगर उनका अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ है तो टीकाकरण भी अवश्य कराएं।
  • रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड एवं इंटर स्टेट बॉर्डर चेक प्वाइंट पर बाहर से आने वालों पर विशेष नजर रखें। इन जगहों पर पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबलों की उपलब्धता के साथ-साथ कोरोना जांच एवं टीकाकरण की पूरी व्यवस्था रखें।
  • हाल में हुए वर्षापात से प्रभावित जगहों के लोगों की भी कोरोना जांच एवं टीकाकरण की जानकारी लें और बचे हुए लोगों का टीकाकरण अवश्य कराएं।
  • सभी लोगों को जब कोरोना का टीका लग जायेगा तो यह राज्य के लिए बड़ी उपलब्धि होगी और लोग भी कोरोना संक्रमण से सुरक्षित होंगे। प्रचार-प्रसार कर लोगों को कोरोना संक्रमण के प्रति सचेत एवं जागरुक करते रहें।