बिहार में कांग्रेस-RJD का गठबंधन टूटा:कांग्रेस प्रदेश प्रभारी बोले- अगला लोकसभा चुनाव अकेले लडे़ंगे; RJD बोली- पार्टी को कमजोर कर रहे दास

पटनाएक महीने पहले

बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और कांग्रेस का गठबंधन टूट गया है। कांग्रेस के बिहार प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास ने इस पर मुहर लगा दी है। शुक्रवार को दिल्ली से पटना पहुंचे दास ने कहा- अब RJD के साथ कभी कोई गठबंधन नहीं होगा।

भक्त चरण दास ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस अकेले अपने दम पर सभी 40 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने गठबंधन टूटने का ठीकरा तेजस्वी यादव पर फोड़ा।

दास के बयान पर RJD के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा, 'भक्त चरण दास अनर्गल बयान देकर कांग्रेस को कमजोर करने में लगे हैं। इनकी भक्ति जनता के प्रति कम और भाजपा के प्रति ज्यादा दिख रही है। जमीनी हकीकत से इनका कोई सरोकार नहीं है।'

एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए RJD प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा, 'हम लोगों ने महागठबंधन धर्म का पालन इस हद तक किया कि सरकार गंवा दिया, लेकिन महागठबंधन जारी रखा। लालू यादव ने हमेशा त्याग किया है। हर वक्त अपने पदों को छोड़कर लोगों को दिया है।'

RJD उपचुनाव के बाद, भाजपा से मिल जाएगी : दास

भक्त चरण दास ने कहा- RJD ने महागठबंधन धर्म का पालन नहीं किया, इसलिए कांग्रेस उपचुनाव में पूरी ताकत से लड़ रही है। हमारे सभी नेता बिहार पहुंच चुके हैं और जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। RJD उपचुनाव के बाद भाजपा से मिल जाएगी।

दास को जमीनी नेता नहीं कहने पर भड़के कन्हैया

कांग्रेस में शामिल होने के बाद पहली बार बिहार आए कन्हैया कुमार ने पार्टी दफ्तर में इशारों-इशारों में RJD नेताओं पर हमला बोला। उन्होंने कहा- 'जो BJP से लड़ना चाहते हैं, वह कांग्रेस के साथ होंगे और जो ऐसा नहीं चाहते हैं वह केवल गुणा गणित करेंगे। दुख की बात है कि एक पढ़ा लिखा इंसान लठैत की भाषा बोलता है। हमारे प्रभारी के बारे में भी बोलता है।'

उन्होंने कहा- 'भक्त चरण दास आदिवासियों की जमीन की लड़ाई लड़ रहे थे। कांग्रेस सरकार ने इनके कारण ही वेदांता के 50 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया है। पार्टी ने इनका सम्मान किया। इनके कारण ही कन्हैया और जिग्नेश मेवाणी कांग्रेस में है।'

19 अक्टूबर को दास ने लगाए थे गंभीर आरोप

कांग्रेस प्रभारी ने 19 अक्टूबर को कहा था- 'RJD ने उसी दल से मिलीभगत कर ली है, जिसके खिलाफ आज तक हमारे साथ मिलकर लड़ती रही।' दास ने BJP का नाम लिए बिना कहा था- 'RJD ने कांग्रेस का साथ छोड़कर किसी और के साथ मिलीभगत कर ली है।'

इस पर RJD प्रवक्ता मनोज झा ने पलटवार करते हुए कहा था- 'भक्त चरण दास संघी हो गए हैं। संघ के इशारे पर चल रहे हैं।' झा के संघी वाले बयान पर शुक्रवार को दास ने कहा- 'मनोज झा ने क्या कहा, यह हम नहीं जानते हैं। हम बस इतना जानते हैं कि हमने गठबंधन नहीं तोड़ा।'

बिहार की एक सीट बनी अलगाव का कारण
बता दें कि बिहार में दो विधानसभा सीटों तारापुर और कुशेश्वरस्थान पर उपचुनाव हो रहे हैं। इसमें से पिछले गठबंधन के अनुसार एक सीट कुशेश्वरस्थान कांग्रेस की है और एक सीट RJD की, लेकिन RJD ने दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं। इसके बाद विरोध में कांग्रेस ने भी दोनों सीट पर अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं।

खबरें और भी हैं...