बिहार में कोरोना LIVE:CM हाउस के 21 कर्मचारी पॉजिटिव; केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे संक्रमित, प्रकाशपर्व पर प्रभातफेरी और नगर कीर्तन रद्द

पटना7 महीने पहले

कोरोना प्रोटोकॉल में लापरवाही ने बिहार में 7 माह पहले वाले हालात ला दिए हैं। बुधवार को बिहार में 1659 नए मामले आए। वहीं केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। हालात जून की तरह ही हो गए हैं। जून में 7 तारीख को एक दिन में 762 नए मामले आए थे। वहीं, बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वह पिछले साल भी पॉजिटिव हुए थे। वहीं, CM हाउस के 21 कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित मिले हैं।

AIIMS में 11 डाक्टर संक्रमित हुए हैं। यहां 6 संक्रमित भर्ती हैं। कुल भर्ती मरीजों की संख्या 18 हो गई है।

पटना में बुधवार को 1015 नए मामले आए हैं। कुल 1030 लोगों की जांच रिपोर्ट पटना में पॉजिटिव आई है। इनमें 1018 नए मामले हैं और 12 फॉलोअप केस हैं। 187 ऐसे लोग पॉजिटिव आए हैं जो पटना में जांच कराएं हैं लेकिन वह दूसरे जिले के रहने वाले हैं। पटना जिले में कुल 831 नए मामले की सीएस विभा कुमारी सिंह ने पुष्टि की है।

दशमेश पिता के प्रकाश पर्व पर प्रभातफेरी, नगर कीर्तन रद्द
पटना साहिब में गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का प्रकाश पर्व पर निकलने वाला बड़ी प्रभात फेरी, नगर कीर्तन और अन्य आयोजन रद्द कर दिया गया। अब सांकेतिक रूप से कुछ लोगों की मौजूदगी में बाग धार्मिक रस्म किया गया। तख्तश्री कमेटी के पदधारियों, संगतों, जत्थेदार आदि की मौजूदगी में निर्णय हुआ।

दोनों डिप्टी CM समेत 5 मंत्री पॉजिटिव
बिहार सरकार के दो डिप्टी सीएम समेत पांच मंत्रियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। कोरोना संक्रमित मंत्रियों में डिप्टी CM रेणु देवी, डिप्टी CM तारिकशोर प्रसाद, मद्य निषेध मंत्री सुनील कुमार, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी और अनुसूचित जनजाति कल्याण मंत्री संतोष सुमन शामिल हैं। उन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया है।

बिहार में कोरोना से अब तक 12097 की मौत
पटना नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना संक्रमित 65 साल के राधेश्याम प्रसाद की मौत हो गई है। राधे श्याम प्रसाद बख्तियारपुर के रहने वाले थे और उन्हें 4 जनवरी को नालंदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। नालंदा मेडिकल कॉलेज के नोडल डॉ. मुकुल कुमार सिंह ने इसकी पुष्टि की है। बिहार में अब तक 12097 संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

एक्टिव मरीजों की संख्या 2222 पहुंची
वहीं, आरा के नवोदय विद्यालय में 17 छात्र कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। अगर सरकार कोरोना की रफ्तार को पहले भांप लेती और शुरुआती दौर में ही सख्ती बढ़ा देती तो काम आसान हो जाता, लेकिन IMA के कार्यक्रम से लेकर अन्य आयोजनों ने कोरोना को बड़ी रफ्तार दे दी है। अब इस रफ्तार को रोक पाना आसान नहीं होगा, क्योंकि राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 2222 हो गई है। इसके अलावा अभी ऐसे भी संक्रमित हैं जो डिटेक्ट नहीं हो पाए हैं, इनमें विदेश से आने वाले लोग भी शामिल हैं।

जानिए 7 माह पहले क्या थे हालात
बिहार में 7 माह पहले भी सिनेमा हॉल और पार्क जू सब पाबंदी के दायरे में थे। उस दौरान संक्रमण की रफ्तार तेज थी। जून में 7 तारीख को एक दिन में 762 नए मामले आए थे। कोरोना को लेकर हाहाकार था, इस बार 4 जनवरी को 893 संक्रमित एक दिन में आए हैं। तब भी पाबंदियां जितनी थी आज भी वही पाबंदी लागू हो गई है। 4 जनवरी को राज्य में कोरोना के कुल मामले 728766 हो गए हैं। इसमें कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 714447 है जबकि अब तक 12096 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में 2222 एक्टिव मामले हैं।

एक्टिव मामलों के टॉप 5 जिले

  • पटना - 1250
  • गया - 460
  • मुजफ्फरपुर - 70
  • मुंगेर - 65
  • जमुई - 34

56 संक्रमितों के ठीक होने पर एक्टिव केस 2222
24 घंटे में 56 संक्रमितों ने कोरोना को मात दिया है। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि 24 घंटे में 57 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं, इसके बाद भी एक्टिव मरीजों की संख्या में कोई खास कमी नहीं हुई है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 3881 है। अब तक कोरोना से ठीक होने वालों का आंकड़ा भी 714447 पहुंच गया है लेकिन रिकवरी दर 98.03 प्रतिशत हो गई है। संक्रमण की रफ्तार बढ़ने के कारण ही लगातार राज्य में रिकवरी रेट गिर रही है।

गया में तीसरी लहर में कोरोना से पहली मौत
गया में बुधवार को कोरोना से एक महिला की मौत हो गई। कोरोना की तीसरी लहर में कोरोना से जिले में पहली मौत मगध मेडिकल कॉलेज में हुई है। मृत महिला शहर के मुफस्सिल थाना क्षेत्र की रहने वाली थी। उसने कोरोना का एक भी टीका अब तक नहीं लिया था।

खबरें और भी हैं...