• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Corona Special 100 Bed Ward In Magadh Medical College Gaya; Corona Patient Toll Rises In Gaya

कोरोना से जंग के लिए ANMMCH तैयार:संक्रमितों के लिए 100 बेड का स्पेशल वार्ड कल से शुरू होगा, हर बेड तक पाइप से ऑक्सीजन की सुविधा

गयाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
विशेष वार्ड का जायजा लेते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
विशेष वार्ड का जायजा लेते अधिकारी।

बिहार में पटना के बाद कोरोना संक्रमण की रफ्तार सबसे ज्यादा गया में है। हर दिन गया जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना मरीजों की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज (ANMMCH) में 100 बेड का अलग से वार्ड तैयार किया जा रहा है। जिला प्रशासन ने दावा किया है कि सोमवार से यह वार्ड शुरू कर दिया जाएगा। 100 बेड का यह वार्ड अस्पताल की नयी बिल्डिंग MCH में बनाया जा रहा है। इस अस्पताल में पहुंचने के लिए अलग से गेट दिया गया है। इस वार्ड में आइसोलेशन रूम, आईसीयू, एक्सरे मशीन रूम की सुविधा होगी। साथ ही हर बेड पर ऑक्सीजन पाइप पहुंचायी गई है।

मगध मेडिकल कॉलेज के इस वार्ड में आने-जाने के लिए गया के घुटिया रोड की ओर से भी गेट दिया गया है, जिससे मरीजों और उनके परिजनों को वार्ड पहुंचने में आसानी होगी। डॉक्टर भी अस्पताल के अंदर से ही कोरोना वार्ड तक पहुंचेंगे। DM अभिषेक सिंह ने कहा कि अस्पताल के बाहर परिसर में मातृ शिशु भवन के निकट अटेंडेंट रूम भी तैयार करने का निर्देश दिया गया है। इस आदेश पर भी अस्पताल प्रबंधन तेजी से काम कर रहा है। हालांकि, अटेंडेंट रूम में अब तक पानी की व्यवस्था नहीं की गई है। अस्पताल प्रबंधन का दावा है कि सोमवार तक सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएगी।

विशेष परिस्थिति के लिए बेड रिजर्व
कोरोना मरीजों के लिए ट्रामा सेंटर और ENT में भी बेड रिजर्व रखा गया है। पूर्व इमरजेंसी बिल्डिंग में भी कोरोना संक्रमितों के लिए अलग से वार्ड बनाया हुआ है। वहां भी इलाज चलता रहेगा। DM अभिषेक सिंह ने बताया कि मगध मेडिकल अस्पताल में ठोस व्यवस्थाएं लगातार की जा रही है। बिहार में जानलेवा होता जा रहा संक्रमण। प्रदेश में पटना के बाद मुजफ्फरपुर और गया से सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज निकल रहे हैं। पटना में आंकड़ा एक हजार पार कर अब 1431 हो गया है।

डरा रहे हैं आंकड़े
कोरोना की पहली लहर में 31 मई 2020 को प्रदेश में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 3565 थी। तीन माह में जितने मामले आए अब एक दिन में लगभग उतने ही मामले आ रहे हैं। शनिवार को बिहार में आए संक्रमितों की संख्या ने डरा दिया है। एक दिन में 3469 मामले और 9 मौत ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे डराने वाले आंकड़ों के बाद भी बाजार में लोगों की लापरवाही जारी है। संक्रमण से बचाव को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पटना में 700 के अंदर रहने वाला आंकड़ा 24 घंटे में ही 1431 पहुंच गया है। आंकड़ों की बढ़ती रफ्तार प्रदेश में बड़े खतरे का संकेत दे रही है।