• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Corona Third Wave Preparation In Bihar; Many Oxygen Plantation Preparation By Government; Bihar Corona Latest News

आप भी हो जाएं सावधान, प्रशासन ने शुरू की तैयारी:बिहार में कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सरकार अलर्ट, ऑक्सीजन से लेकर वैक्सीनेशन की तय हो रही जवाबदेही

पटना3 महीने पहले
सांकेतिक तस्वीर।

बिहार में कोरोना की तीसरी लड़ाई को लेकर तैयारी तेज हो गई है। ऑक्सीजन प्लांट से लेकर वैक्सीनेशन तक पर अब पूरी जवाबदेही तय की जा रही है। ऐसे में इस बात की आशंका काफी प्रबल है कि आने वाला समय काफी खतरनाक हो सकता है। ऐसे में सुरक्षा को लेकर थोड़ी भी लापरवाही हुई तो कोरोना की तीसरी लहर में बड़ी चुनौती होगी। आप अगर कोरोना की तीसरी लहर को हल्के में ले रहे हैं तो सावधान हो जाइए और कोरोना की सभी गाइडलाइन का पालन कीजिए।

बिहार के सभी जिलों में समीक्षा
बिहार के सभी जिलों में कोरोना से लड़ाई को लेकर समीक्षा चल रही है। हर जगह ऑक्सीजन से लेकर अन्य व्यवस्था पर मंथन किया जा रहा है। डीएम को यह निर्देश दिया गया है कि वह हर स्तर से कोरोना संक्रमण से निपटने को लेकर लड़ाई जारी रखें, इसमें वैक्सीनेशन को लेकर बड़ा दबाव है।

ऐसे तय की जा रही है जवाबदेही
कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चल रही लड़ाई में सिविल सर्जन, डीपीएम के साथ सभी एमओआईसी के साथ स्वास्थ्य विभाग के अन्य जिला पदाधिकारियों को जवाबदेह बनाया है। तैयारी को लेकर लगातार अफसरों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पूरी व्यवस्था की हर दिन समीक्षा की जा रही है। जवाबदेही तय करते हुए अस्पतालों की व्यवस्था के साथ ऑक्सीजन की भी भविष्य को देखते हुए तैयारी की जा रही है।

यह है कोरोना से लड़ाई की तैयारी

  • नए ऑक्सीजन प्लांट का इंस्टालेशन
  • नियमित टीकाकरण
  • पल्स पोलियो इम्यूनाइजेशन
  • संस्थागत प्रसव पर पूरा फोकस
  • कोविड टीकाकरण पर पूरा जोर

डेल्टा वैरिएंट को लेकर अलर्ट

बिहार में डेल्टा वैरिएंट को लेकर टेस्टिंग पर विशेष तैयारी चल रही है। अधिक से अधिक लोगों की कोरोना जांच कराई जाए और इसमें नए वैरिएंट को डिटेक्ट करने पर पूरा काम किया जाए। डेल्टा वैरियंट के डिटेक्ट करने के साथ कोविड-19 की टेस्टिंग पर पूरा जोर देने को कहा जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने आदेश दिया है कि कोरोना की जांच को लेकर पूरी तेजी लाई जाए और सुरक्षा को लेकर पूरा ध्यान दिया जाए। संक्रमितों में यह भी पता लगाया जाए कि कोराेना संक्रमित में कौन सा वैरिएंट है।

टीकाकरण को लेकर बड़ी तैयारी

कोरोना के टीकाकरण को लेकर बड़ी तैयारी चल रही है। 6 माह में 6 करोड़ वैक्सीनेशन को लेकर हर बिंदु पर काम किया जा रहा है। वैक्सीनेशन को लेकर समीक्षा भी की जा रही है। राज्य के सभी जिलों के डीएम को निर्देश दिया गया है कि कोरोना के टीकाकरण को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों को जागीकिया जाए।

ताकि नहीं हो ऑक्सीजन की मारामारी

कोरोन की दूसरी लहर में ऑक्सीजन को लेकर सबसे अधिक मारामारी हुई है। संक्रमितों को काफी समस्या हुई थी। संक्रमितों को अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहे थे और ऑक्सीजन की भी समस्या हुई। सरकारी अस्पतालों में भी मरीजों को ऑक्सीजन के लिए परेशानी हुई इसमें पटना में काफी परेशानी हुई है। इस समस्या का समाधान दूसरी लहर में करने का प्रयास किया गया लेकिन समस्या का पूरी तरह समाधान करने में भी काफी समस्या हुई। इसके लिए मरीजों को ऑक्सीजन के सौदागरों ने भी खूब लूटा। एक एक ऑक्सीजन की सिलेंडर के लिए 20 से 40 हजार रुपए वूसला गया।

पटना में कोरोना से लड़ाई की तैयारी

  • पटना में सबसे बड़ी तेजी ऑक्सीजन प्लांट को लेकर है।
  • जिले के 9 अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम चल रहा है।
  • बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का काम पूरा हो चुका है।
  • यहां ऑक्सीजन सप्लाई का पाइपलाइन 55 बेड पर है।
  • ऑपरेटरों को प्रशिक्षित कर तैनाती करने तथा प्लांट को चलाने की तैयारी चल रही है।
  • अस्पतालों में पाइपलाइन ,ट्रांसफॉर्मर, जेनरेटर, फाउंडेशन की तैयारी की जा रही है।

यहां चल रहा है ऑक्सीजन पर काम

ऑक्सीजन को लेकर सबसे अधिक समस्या पटना में आई थी। इस कारण पटना में इसे लेकर बड़ी तैयारी चल रही है। अनुमंडलीय अस्पताल मसौढ़ी, अनुमंडलीय अस्पताल दानापुर, गुरु गोविंद सिंह अस्पताल , एलएनजेपी, राजेंद्र नगर आई हॉस्पिटल, फुलवारीशरीफ सीएचसी, बख्तियारपुर पीएचसी ,फतुहा पीएचसी, में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम चल रहा है। इसके अलावा मेडिकल कॉलेजों में भी ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम तेजी से किया जा रहा है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को कार्य में प्रगति लाने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...