पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बारिश से धान की खेती पर संकट:बेतिया में लगातार हो रही बारिश से बिचड़ा गिराने में किसानों को हो रही परेशानी, उत्पादन पर पड़ेगा असर

बेतिया16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बारिश से धान की फसल हो रही खराब। - Dainik Bhaskar
बारिश से धान की फसल हो रही खराब।

बेतिया जिले में लगातार हो रही बारिश से धान की खेती पर संकट मंडराने लगा है, किसानों को दोबारा धान का बिचड़ा गिराने में परेशानी हो रही है। अगर यही हाल रहा तो इस साल धान का उत्पादन प्रभावित हो सकता है। गुरुवार सुबह से ही बारिश हो रही है। किसानों ने बताया कि मई और जून महीने में औसत से दोगुनी ज्यादा बारिश हुई है, जिसके कारण धान का बिचड़ा बर्बाद हो गया है।

धान का रकबा भी घटेगा

मौसम अनुकूल नहीं होने के कारण दोबारा धान का बिचड़ा गिराने में काफी परेशानी हो रही है। यही कारण है कि इस वर्ष धान का रकबा भी घट जाएगा। लगातार हो रही बारिश से गन्ना समेत सब्जी फसलों की भी काफी क्षति हुई है। मक्का की फसलें खेतों में सड़ रही है, चनपटिया के किसान ओमप्रकाश क्रांति, नरकटियागंज के किसान झुंझुनू उपाध्याय ने बताया कि मई महीने में मक्का की फसलें तैयार होती है, जब मक्का की फसलें तैयार हुई उस समय बारिश होने लगी है।

इनका क्या है कहना

बारिश का यह पिछले कई दिनों से अभी तक जारी है, ऐसे में मक्का फसलों की भारी क्षति हुई है। डिप्टी पीडी राजेश कुमार ने बताया कि पश्चिमी चंपारण में 70 फीसदी से ज्यादा धान बीज का वितरण किया जा चुका है, युद्ध स्तर पर किसानों को बीज विभाग उपलब्ध करा रहा है ,ताकि समय से किसान धान की खेती कर सके बीज पर्याप्त मात्रा में जिले में उपलब्ध है।

खबरें और भी हैं...