पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sports
  • Daughters Got Freedom Like Sons Reached National Level In Five Volleyball, More Than Ten Took The Force Of Sports

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर विशेष:बेटियाें काे मिली बेटाें जैसी आजादी ताे 5 वाॅलीबाॅल में नेशनल लेवल पर पहुंचीं, 10 से ज्यादा ने खेल के बल पर ली नाैकरी

भागलपुरएक महीने पहलेलेखक: रूप कुमार
  • कॉपी लिंक
साेनवर्षा में बाॅलीबाॅल का अभ्यास करतीं बेटियां। - Dainik Bhaskar
साेनवर्षा में बाॅलीबाॅल का अभ्यास करतीं बेटियां।
  • बिहपुर में साेनवर्षा की बेटियां दे रहीं माता-पिता के सपनाें काे उड़ान, वाॅलीबाॅल में बना रहीं करियर
  • बेटियाें के बल पर 2000 से 2007 तक भागलपुर जिला सूबे का वाॅलीबाॅल चैंपियन रहा

भागलपुर से 30 किलाेमीटर दूर बिहपुर का साेनवर्षा गांव। यहां बेटियाें काे बेटाें जैसी आजादी है। उनके करियर और सपनाें काे बुनने में काेई बाधा नहीं डालता। उड़ान की आजादी मिली ताे बेटियाें ने भी मां-बाप के सपनाें काे पूरा करने में कोई-कसर नहीं छाेड़ी। पढ़ाई और खेलकूद में कैरियर बनाया। अभी गांव 20 से अधिक लड़कियां वाॅलीबाॅल में नाम कमा चुकी हैं।

5 नेशनल लेवल पर खेल चुकी हैं। बाकी ने स्टेट लेवल पर जलवा दिखाया है। गांव की बेटियाें के बल पर 2000 से 2007 तक भागलपुर सूबे का वाॅलीबाॅल चैंपियन रहा। गांव की पूजा कुमारी चार बार स्टेट लेवल टीम की कैप्टन रही। खेल के दम पर 10 से अधिक ने सरकारी नाैकरी ली है। गांव की बेटियां डाॅक्टर और इंजीनियर भी हैं।

खिलाड़ी कुसुम ने शुरू किया था मिशन
साेनवर्षा में बेटियाें ने 21 साल पहले 1999 में वाॅलीबाॅल पहली बार थामा था। काेच नीलेश कुमार ने बताया, गांव के वाॅलीबाॅल खिलाड़ी स्व. कुसुम कुमार ने पटना में गर्ल्स वाॅलीबाॅल टीम देखकर गांव में बेटियाें काे ट्रेनिंग देने की ठानी। साेनवर्षा हाईस्कूल मैदान में ट्रेनिंग शुरू हुई। अब रोज स्कूल के खेल मैदान में वाॅलीबाॅल की प्रैक्टिस होती है। यहां की बेटियों की झाेली में 30 से अधिक मेडल हैं।

डाॅक्टर, इंजीनियर, बैंकर भी हैं बेटियां
गांव की वरुण कला व किशाेरी डाॅक्टर हैं। दीप्ति कुमारी इंजीनियर व शिक्षक संजय कुमार की तीनाें बेटियां नाैकरी में हैं। प्रेरणा बैंक अफसर हैं। शैलजा आर्या बीमा कंपनी में और नम्रता टीसीएस में इंजीनियर हैं।

जुनून...दादा ने चार पाेतियाें काे नेशनल खिलाड़ी बनाया
गांव के किसान स्व. बेदानंद कुमर ने अपनी चार पाेतियाें काे वाॅलीबाॅल का नेशनल खिलाड़ी बनाया। उनकी पाेतियां-पूजा पुलिस में, मनीषा सचिवालय में, आरती कुमारी व तनुजा शिक्षक हैं।

गांव की पूजा 4 बार स्टेट टीम की रही कैप्टन
गांव की 5 बेटियां मुस्कान, प्रेरणा, सताक्षी, खुशी, निधि नेशनल खेल चुकी हैं। खुशी व मुस्कान सीनियर नेशनल खेलीं व पूजा 4 बार स्टेट लेवल टीम की कैप्टन रहीं। प्रेरणा मिनी जूनियर, यूथ खेल चुकी हैं। वे गर्ल्स वाॅलीबाॅल में सूबे का प्रतिनिधित्व करती हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

और पढ़ें