• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Delay In Action On Munger SP Lipi Singh Lead To Protests After Poll Day : Bihar Election News

भास्कर की आशंका हुई सच:लिपि सिंह पर कार्रवाई में देरी महंगी पड़ी; नए DM-SP की तैनाती के बाद अब BMP कमांडेंट संजय कुमार भी मुंगेर भेजे गए

मुंगेरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुंगेर पुलिस की कार्रवाई के बाद एसपी लिपि सिंह सवालों के घेरे में हैं। - Dainik Bhaskar
मुंगेर पुलिस की कार्रवाई के बाद एसपी लिपि सिंह सवालों के घेरे में हैं।
  • एसपी लिपि सिंह को हटाकर बिहार पुलिस मुख्यालय में योगदान करने का निर्देश दिया गया
  • रचना पाटिल को डीएम और मानवजीत सिंह ढिल्लो को नया एसपी बनाया गया

मतदान से दो दिन पहले 26 तारीख को दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के समय हुए लाठीचार्ज और फिर गोली से एक की मौत के बाद मुंगेर जल रहा है। निर्वाचन आयोग ने आज गुरुवार को भड़की ताजा हिंसा के बाद मुंगेर के डीएम और एसपी को हटाने का निर्देश दिया है। जिले में अब नए अधिकारियों की पोस्टिंग भी कर दी गई है। आईएएस रचना पाटिल को डीएम और आईपीएस मानवजीत सिंह ढिल्लो को नया एसपी बनाया गया है।एसपी लिपि सिंह को हटाकर बिहार पुलिस मुख्यालय में योगदान करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही अब मुंगेर की स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए बिहार सैन्य बल - 15 के समादेष्टा संजय कुमार सिंह को प्रतिनियुक्त किया गया है। संजय कुमार सिंह को अविलंब मुंगेर के डीआईजी मनु महाराज को रिपोर्ट करने को कहा गया है।

बिहार सैन्य बल - 15 के समादेष्टा संजय कुमार सिंह की फाइल फोटो।
बिहार सैन्य बल - 15 के समादेष्टा संजय कुमार सिंह की फाइल फोटो।

दैनिक भास्कर ने पहले ही आशंका जतायी थी कि अफसरों पर कार्रवाई से ही मामला शांत हो सकता है। इसमें देरी महंगी पड़ी। प्रशासन या चुनाव आयोग ने कार्रवाई में दो दिन लगा दिए। 28 तारीख को चुनाव के दिन मुंगेर में शांति रही। बेकापुर और शादीपुर के लोगों ने मतदान में कम भाग लिया। वोटिंग के दिन लग रहा था कि यह लोगों के अंदर उबल रहे गुस्से से पहले की शांति का दिन था। 28 तारीख को मतदान की समाप्ति के बाद 29 तारीख को लोगों ने थाना पर हंगामा किया, आगजनी हुई।

प्रशासन का पूरा खुफिया विभाग विसर्जन के दिन भी लोगों की भावना नहीं समझ सका और चुनाव के दिन की शांति को भी भांप नहीं पाया। नतीजा तीसरे दिन मुंगेर जल उठा।

भास्कर ब्रेकिंग: मुंगेर में भीड़ ने नहीं, पुलिस ने फायरिंग की शुरुआत की थी; CISF की इंटरनल रिपोर्ट से खुलासा

मुंगेर में हिंसा: मूर्ति विसर्जन के दौरान लाठीचार्ज से गुस्साई भीड़ ने हिंसा की, EC ने अफसर हटाए; नए एसपी-डीएम हेलिकॉप्टर से पहुंचे

लखीसराय समेत तीन जिलों से बुलाया गया पुलिस बल

मुंगेर पुलिस बिगड़े हालात पर काबू पाने में अब तक असफल रही है। इस कारण मुंगेर रेंज के तीन जिलों लखीसराय, जमुई और शेखपुरा से पुलिस बल को बुलाकर शहर में तैनात किया गया है। लखीसराय और जमुई से एएसपी और डीएसपी स्तर के कई अधिकारियों को भी लॉ एंड आर्डर बनाये रखने के लिए मुंगेर भेजा गया है। इससे पहले मुंगेर रेंज के डीआईजी मनु महाराज भी सड़क पर उतरे थे। पुलिस बल के साथ शहर की सड़कों पर फ्लैग मार्च कर उन्होंने लोगों से शांति बनाये रखने और कानून हाथ में न लेने की अपील की। कहा कि मामले में दोनों पक्ष के दोषियों पर कार्रवाई हो रही है।

3 नवंबर को मुंगेर से सटे सभी जिले अलर्ट पर

चुनाव आयोग ने 3 नवंबर को मुंगेर जिला से सटे हुए सभी जिलों को अलर्ट पर रहने का आदेश दिया है। मुंगेर से सटे सभी जिलों को सुरक्षा व्यवस्था और कड़ी करने को कहा गया है। चुनाव कराने गए सभी सुरक्षा बलों को वहां तत्काल रोकने का निर्देश दिया गया है। अपर निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने कहा कि मुंगेर की स्थिति सुधर गई है और नियंत्रण में है। अधिकारी वहां काम कर रहे हैं। नए डीएम, एसपी ने ज्वाइन कर लिया है। अधिकारियों को कैंप करने का निर्देश दिया गया है।

उन्होंने कहा कि मृतक का पोस्टमॉर्टम हुआ है। रिपोर्ट आई है। लेकिन यहां नहीं मंगाई गई है। वहां स्थानीय अधिकारी हैं, पुलिस के बड़े अफसर भी हैं। साथ ही मगध के प्रमंडलीय आयुक्त को जांच की जिम्मेदारी दी गई। जांच के बाद ही कुछ सामने आएगा।

लिपि सिंह पर सवाल: मुंगेर मामले में एसपी लिपि सिंह की कार्यशैली भी सवालों के घेरे में; 'लेडी सिंघम' पर कार्रवाई की अब उठने लगी है मांग

बिहार चुनाव 2020: नेताजी चुनावी मैदान में, नेताजी के रिश्तेदार चुनावी चौकीदारी में, ऐसा होगा बिहार का चुनाव

खबरें और भी हैं...