• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Drug Crisis In Corona's Dedicated Hospital, Junior Doctors Of NMCH Have Raised The Issue Before Health Minister Mangal Pandey

NMCH में मरीजों की मुश्किल:कोरोना के डेडिकेटेड हॉस्पिटल में दवाओं का संकट, जूनियर डॉक्टरों ने उठाया मामला तो स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- होगी व्यवस्था

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टरों ने कहा है कि दवाएं नहीं मिल पा रही हैं इस कारण से समस्या आ रही है। - Dainik Bhaskar
डॉक्टरों ने कहा है कि दवाएं नहीं मिल पा रही हैं इस कारण से समस्या आ रही है।
  • 7 जूनियर डॉक्टरों का प्रतिनिधि मंडल ने उठाया मामला

नालंदा मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (NMCH) में कोरोना संक्रमितों के लिए हर दिन मुश्किल बढ़ती जा रही है। दवाओं की कमी के साथ ऑक्सीजन की समस्या हो गई। संक्रमितों की मौत के बाद तोड़फोड़ के साथ बवाल हो रहा है। ऐसी घटना के शिकार जूनियर डॉक्टरों ने जब हड़ताल किया तो इसका खुलासा हुआ। गुरुवार को नालंदा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने इस मामले को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के सामने रखा तो उन्होंने कहा बहुत जल्द इसका समाधान हो जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री के सामने रखा मामला

जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन (JDA) के अध्यक्ष डॉ. रामचंद्र कुमार और सचिव डॉ. कुशाग्र के साथ 7 जूनियर डॉक्टरों का प्रतिनिधिमंडल स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात की और समस्या की सुधार की मांग की है। जूनियर डॉक्टरों ने पहला मामला मैन पावर बढ़ाने और दवाओं की कमी को दूर करने का उठाया है। डॉक्टरों ने कहा है कि दवाएं नहीं मिल पा रही हैं इस कारण से समस्या आ रही है। डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल को स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वासन दिया है कि सभी समस्याओं का समाधान बहुत जल्द कर दिया जाएगा जिससे मरीजों को समस्या नहीं होने पाएगी।

MBBS फाइनल इयर के स्टूडेंट्स का बढ़ेगा कार्यकाल

जूनियर डॉक्टरों ने बताया कि दवा और अन्य समस्याओं को लेकर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने आश्वासन दिया है। इसके साथ ही यह भी आश्वासन दिया है कि सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाएगा। इसी क्रम में स्वास्थ्य मंत्री ने आश्वासन दिया है कि MBBS अंतिम वर्ष के छात्रों को कोरोना के कर्तव्यों में तैनात किया जाएगा। अंतिम वर्ष के छात्रों का कार्यकाल भी बढ़ाया जाएगा। सुपरिटेंडेंट NMCH को वार्ड बॉय और अन्य स्टाफ की भर्ती के लिए अधिकार दिया गया है। हमें स्वास्थ्य बुलेटिन तैयार करने के लिए अलग से स्टाफ उपलब्ध कराया जाएगा। दवाओं की कमी जल्द ही सही हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...