• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Education Department Improve Deteriorating Education System During Corona Period; Bihar Education Latest News

कॉन्वेंट की तरह क्लास रूम की तैयारी, शिक्षकों की मॉनिटरिंग:कोरोना काल में बिगड़ी शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए ढूंढ़े जा रहे उपाय, शिक्षा विभाग ने तैयार किया प्लान

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजय चौधरी, शिक्षा मंत्री। - Dainik Bhaskar
विजय चौधरी, शिक्षा मंत्री।

कोरोना काल में बिगड़ी शिक्षा व्यवस्था में सुधार को लेकर अब गुरुजी को दिमाग लगाना होगा। शिक्षा विभाग ने कई ऐसे प्लान दिए हैं जिससे क्लास रुम को रोचक बनाया जाएगा। क्लास रूम को भी कॉन्वेंट स्कूलों की तरह चमकाने की प्लानिंग है। साथ ही शिक्षकों की भी मॉनिटरिंग की जाएगी।

स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए कई ऐसे बदलाव किए जा रहे हैं जिससे रोचक माहौल में पढ़ाई हो सके। माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्तर पर शिक्षा व्यवस्था में सुधार को लेकर विभाग ने नए मॉडल तैयार किए जा रहे हैं। पटना DEO ने स्कूलों को पत्र जारी कर क्लास में बच्चों की संख्या बढ़ाने को लेकर नए प्लान बताए हैं।

13 मार्च 2020 से शिक्षा में आई बाधा

कोविड -19 के सक्रमण के बाद 13 मार्च 2020 से शिक्षा व्यवस्था प्रभावित हुई है। विद्यालयों का संचालन अवरूद्द हुआ है। मौजूदा समय में 7 अगस्त 2021 से माध्यमिक स्तर तक के सभी विद्यालयों में 50 प्रतिशत स्टूडेंट्स की उपस्थिति के साथ कोविड प्रोटोकॉल में स्कूल कॉलेज खाेले गए हैं। लेकिन छात्रों की उपस्थिति 15 से 20 प्रतिशत ही है। अधिकारियों का कहना है कि बहुत जल्द सामान्य रूप से विद्यालय का संचालन होगा।

कोर्स पूरा कराना बड़ी चुनौती

स्टूडेंट्स का माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्तर का पाठ्यक्रम पूरा कराना स्कूलों के सामने बड़ी चुनौती है। विद्यालय स्तर पर इस चुनौती को स्वीकार करते हुए कई नए प्रयोग किए गए हैं। इसमें Online कक्षा का संचालन, Catch - up Course का संचालन शामिल है। शिक्षा विभाग ने यह आदेश दिया है कि इस गतिविधि को मजबूती के साथ आगे और तेजी से बढ़ाया जाए। इसके लिए प्लान तैयार किए जा रहे हैं।

शिक्षा में सुधार के लिए तैयार प्लान

  • विद्यालय प्रबंधन समिति का गठन एवं नियमित बैठक कर विद्यालय के विकास की योजना का सृजन एवं क्रियान्वयन करना
  • विद्यालय प्रबंधन एवं विकास समिति ( SMDC ) का गठन करना ।
  • विद्यालय में दैनिक समय सारणी ( रूटीन ) का पालन करना
  • विद्यालय के पुस्तकालय एवं प्रयोगशाला का नियमित उपयोग करना
  • शिक्षक के सूचित अवकाश रहने पर " Take - up Class " की व्यवस्था करना
  • शिक्षकों के द्वारा कक्षा का संचालन पाठ - टीका के साथ सुनिश्चित कराना
  • शिक्षकों के विद्यालय आने - जाने का समय रजिस्टर में दर्ज करना
  • शिक्षक के अवकाश पर रहने की स्थिति में कक्षा का संचालन अवरूद्द नहीं हो
  • प्रत्येक वर्ग में एक वर्ग मॉनिटर की व्यवस्था सुनिश्चित करना
  • शिक्षक एवं वर्ग मॉनिटर के साथ प्रत्येक शनिवार को साप्ताहिक समीक्षात्मक बैठक करेंगे
  • आवश्यकतानुसार Remedial Class का संचालन करना ताकि Learning Loss की भरपाई हो स्टूडेंट्स को डिजिटल शिक्षा के लिए e - LOTS पोर्टल से अवगत कराना
  • e - LOTS app के माध्यम से शिक्षण गतिविधियों का संचालन कराना
  • विद्यालय में नियमित सफाई कराना, टॉयलेट को उपयोग के लायक रखना
  • Mask का प्रयोग करने के साथ कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना
  • क्लास रूम और विद्यालय प्रांगण का नियमित रूप से Sanitize कराना
  • क्लास में अनुपस्थित रहने वाले छात्रों की पहचान कर उन्हें विद्यालय से जोड़ने की रणनीति बनाना स्टूडेंट्स का नियमित रूप से मूल्यांकन करना
खबरें और भी हैं...