8वें चरण की वोटिंग संपन्न:सीतामढ़ी के सुप्पी में पुलिस को बनाया बंधक, नवादा में रोड़ेबाजी; नक्सली बंदी रही बेअसर

पटना5 दिन पहले

बिहार पंचायत चुनाव में 8वें चरण की सीटों पर मतदान संपन्न हुआ। 8वें चरण में 36 जिलों के 55 प्रखंडों की 822 पंचायतों में चुनाव हुआ। इस चरण के 3356 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है। वहीं, 166 पदों पर किसी भी प्रत्याशी के नामांकन नहीं करने की वजह से ये पद खाली रह गए हैं। इधर, नक्सली बंद का चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ा और 61.95% वोटिंग हुई।

सीतामढ़ी में बूथ कैप्चर करने की अफवाह फैल गई। इसके बाद पुलिस ने लोगों को घर में घुसा-घुसा कर पीट दिया। आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस को बंधक बना लिया। मौके पर एसपी ने पहुंच लोगों को शांत कराया। रीगा प्रखंड के इमली बाजार गांव में घर के बरामदे पर बैठे दो भाइयों को पुलिस ने खदेड़ कर पीटा। पुलिस के डर से दोनों युवक छत पर भाग गए। पुलिस घर में घुसकर छत पर चढ़ी और वहां भी डंडे बरसाने लगे जिसके डर से एक युवक छत से कूद गया।

नवादा की लोहार पुरा ग्राम पंचायत के बूथ नंबर 221 पर बोगस वोट देने के लिए कब्जा करने लोहरपुरा के मतदाताओं और वास्तविक मत देने आए मतदाताओं के बीच झड़प हो गई,जो बाद में रोड़ेबाजी में बदल गई। पुलिस ने दोनों पक्षों को खदेड़ा। वहीं, नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने तीन दिन की बंदी का ऐलान किया था। उन्होंने इसे नहीं मानने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। लेकिन, बुधवार को वोटर्स में काफी उत्साह दिखा।

सहरसा में निरीक्षण करने के लिए ट्रैक्टर से जातीं SP लिपि सिंह व DM कौशल कुमार।
सहरसा में निरीक्षण करने के लिए ट्रैक्टर से जातीं SP लिपि सिंह व DM कौशल कुमार।
सीतामढ़ी में बूथ कैप्चर करने की अफवाह के बाद मचे बवाल को शांत करते पुलिस अधिकारी।
सीतामढ़ी में बूथ कैप्चर करने की अफवाह के बाद मचे बवाल को शांत करते पुलिस अधिकारी।
भागलपुर में नाव पर वोटिंग करने जाते मतदाता।
भागलपुर में नाव पर वोटिंग करने जाते मतदाता।

92 हजार 376 उम्मीदवार मैदान में
राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक कुल 92 हजार 376 उम्मीदवार मैदान में हैं। इस चरण में कुल 66 लाख 55 हजार 233 मतदाता मतदान करेंगे। इनमें 31 लाख 52 हजार 763 महिला मतदाता जबकि 35 लाख 2 हजार 260 पुरुष मतदाता हैं। इस चरण में वोटरों के लिए कुल 11 हजार 527 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

दौलतपुर पंचायत के बलुआं गांव के मध्य विद्यालय में मतदान करने पहुंचे मतदाता।
दौलतपुर पंचायत के बलुआं गांव के मध्य विद्यालय में मतदान करने पहुंचे मतदाता।

आठवें चरण में कुल पदों की संख्या 25 हजार 561 है। इनमें ग्राम पंचायत सदस्य पद की संख्या 11 हजार 173 है। ग्राम पंचायत मुखिया के 1135 पद, पंचायत समिति सदस्य के लिए 821, जिला परिषद सदस्य के 124 पद, ग्राम कचहरी सरपंच के 1135 पद और ग्राम कचहरी पंच के 11 हजार 173 पदों के लिए चुनाव होंगे। वहीं, 92 हजार 376 उम्मीदवारों में से 42 हजार 803 पुरुष और 49 हजार 573 महिला उम्मीदवार शामिल हैं।

सीतामढ़ी के रीगा में EVM ठीक होने का इंतजार करतीं महिलाएं।
सीतामढ़ी के रीगा में EVM ठीक होने का इंतजार करतीं महिलाएं।
समस्तीपुर में पंचायत चुनाव को लेकर सिंगापुर से वोट देने पहुंचे मतदाता।
समस्तीपुर में पंचायत चुनाव को लेकर सिंगापुर से वोट देने पहुंचे मतदाता।

मतदान अपडेट्स...

  • बक्सर में 110 पंचायतो में महिला मतदाताओं ने पुरूषों को काफी पीछे छोड़ दिया। कुल 71.23 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। इसमें पुरुष मतदाता का प्रतिशत 70.25% एवं महिला मतदाता का प्रतिशत 72.21% रहा।
  • गया के अतिनक्सल प्रभावित इमामगंज विधानसभा क्षेत्र के इमाम गर्लफ्रे आदर्श राजकीय मध्य विद्यालय में मतदान जारी है। नक्सली बंदी के बावजूद लोग वोट करने के लिए आ रहे हैं। लोगों में वोट के प्रति उत्साह, अपने नेता को चुनने के प्रति उनका जोश बना हुआ है। स्कूल में दो बूथ हैं। एक बूथ पर 320 और दूसरे बूथ पर 600 से अधिक मतदाता हैं। यहां 3:00 बजे तक मतदान होगा। यहां बायोमेट्रिक के उपकरण तो हैं पर वह काम नहीं कर रहे। वोटिंग प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही मशीन काम करना बंद कर दिया।
  • सीतामढ़ी के रीगा प्रखंड अंतर्गत बूथ संख्या 5 पर EVM में आई गड़बड़ी, तकरीबन एक घंटे से बाधित है मतदान, कई मतदाता बिना वोटिंग किए लौटे घर। सुप्पी प्रखंड के छोरिया बूथ संख्या 110 के कैप्चर करने की अफवाह पर पहुंची पुलिस ने गांव वालों को घर में घुसा-घुसा कर पीटा। आक्रोशित ग्रामीणों ने महिला थाना प्रभारी समेत अन्य पुलिस वालों को बंधक बनाया। घटना की सूचना पर एसपी पहुंचे। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस मनमानी कर रही है। जिसके वजह से लोग दहशत में है। गांव की महिलाएं बूथ पर वोट देने जाने से कतरा रही है।
  • मुजफ्फरपुर के गायघाट की 23 पंचायतों के 329 बूथों पर मतदान जारी है। बूथ संख्या 142,143, और 144 पर भारी संख्या में मतदाताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। लेकिन, वोटिंग की गति काफी धीमी थी। इस कारण सभी मतदाता जमीन पर ही बैठ गए। काफी देर बाद भी जब उनकी बारी नहीं आयी तो सभी ऊब गए और हंगामा करने लगे।
  • समस्तीपुर के विद्यापतिनगर प्रखंड में पंचायत की सरकार बनाने के लिए बूथ संख्या 138 पर सिंगापुर से पहली बार अपना वोट डालने NRI राजेश पहुंचे हैं।
  • जमुई में नक्सली बंद बेअसर, मतदाताओं ने जमकर डाले वोट, जमुई के खैरा में हुई 70% वोटिंग, हर बूथ पर महिलाओं की भीड़, 8 किमी पैदल चल कर वोट देने पहुंची महिलाएं। पहली बार कई लड़कियों ने किया मतदान।
गया के इमामगंज में आदर्श बूथ पर वोट करने के लिए लाइन में लगे मतदाता।
गया के इमामगंज में आदर्श बूथ पर वोट करने के लिए लाइन में लगे मतदाता।

गया में नक्सली बंदी नहीं मानने पर अंजाम भुगतने की दी थी धमकी
नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने 23 से 25 नवंबर तक बंद का ऐलान किया। नक्सली अपने शीर्ष नेता प्रशांत बोस व उनकी पत्नी के अलावा अन्य छह साथियों की रिहाई की मांग कर रहे हैं। उन्होंने बंद में शामिल नहीं होने वालों को अंजाम भुगतने की धमकी भी दी है। पंचायत चुनाव के विरोध में नक्सलियों ने इमामगंज विधानसभा क्षेत्र में सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने के लिए जगह-जगह IED और लैंड माइंस बिछाने की सूचना है। इसके कारण कई बूथ भी बदले भी गए। लेकिन, बुधवार को गया में नक्सली बंदी के बावजूद वोटिंग करने वालों का उत्साह दिखा।

मुजफ्फरपुर में मतदान केंद्र पर लाइन में लगे वोटर्स।
मुजफ्फरपुर में मतदान केंद्र पर लाइन में लगे वोटर्स।

3356 पदों पर निर्विरोध हो चुका है निर्वाचन
8वें चरण की सीटों पर 3356 पदों पर निर्विरोध निर्वाचन हो चुका है। इनमें ग्राम पंचायत सदस्य के 148, पंचायत समिति सदस्य के 3, ग्राम कचहरी सरपंच के 2, मुखिया के 1 और ग्राम कचहरी पंच के 3202 पद शामिल हैं। इस चरण के 166 पद खाली रह गए हैं। इसकी वजह ये है कि इन 166 पदों पर किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं किया है। इनमें 4 ग्राम पंचायत सदस्य के, 1 पंचायत समिति सदस्य और 161 ग्राम कचहरी सदस्य के पद शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...