पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Firing In Land Dispute In Purnia; Two Died And More Injured In Purnia; Bihar Bhaskar Latest News

जमीन विवाद में गोलीबारी:पूर्णिया में जमीन विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच मारपीट, गोलीबारी में 2 की मौत, 6 लोग घायल

पूर्णिया9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में घायल शख्स। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में घायल शख्स।

पूर्णिया जिले में एक बार फिर से जमीन विवाद को लेकर हिंसक झड़प हुई। गोलीबारी में 2 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 6 लोग घायल हो गए हैं। मामला रूपौली थाना इलाके के बेला परसादी गांव का है।

दो गुटों के बीच मारपीट

रविवार की सुबह जमीन विवाद को लेकर दो गुटों में मारपीट हो गई। इस दौरान गोली लगने से मोहम्मद जहांगीर, पिता मोहम्मद सोहेल बुरी तरह जख्मी हो गए। वहीं, दूसरे पक्ष के भी चार लोग बुरी तरह घायल हो गए। जख्मी जहांगीर को लोगों ने रूपौली रेफरल अस्पताल पहुंचाया। स्थिति गंभीर होने से जख्मी को सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है। लेकिन सदर अस्पताल पहुंचने से पहले ही जहांगीर ने दम तोड़ दिया। चिकित्सकों ने बताया कि जहांगीर को बांए तरफ छाती में गोली लगी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया

वहीं, दूसरे पक्ष के जयनब खातुन, मो. मोसलीम, अंगूरी खातुन व सबीना खातुन बुरी तरह घायल हो गए हैं. सभी को सदर अस्पताल में लाया गया है। लेकिन मो. मोसलीम की इलाज के दौरान ही मौत हो गया है। मोसलीम के शर और शरीर के विभिन्न जगहों पर गंभीर चोट लगने से मौत हुई है। घटना के बाद दोनों गुट के लोग सदर अस्पताल पहुंचे, जिससे अस्पताल में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। वहीं, पुलिस दोनों मृतक के परिजनों को अस्पताल में ढूंढ रहे हैं। लेकिन किसी का भी पता चल नहीं रहा है। पुलिस दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अस्पताल में अभी भी गहमागहमी का माहौल बना हुआ है।

84 डिसमिल जमीन को लेकर विवाद
मो. जहांगीर, मो. इरशाद, मो. मोसलीम, मो. कैसर व अन्य लोगों ने अंजूम आलम से सभी ने मिलकर 84 डीसमील जमीन खरीदी थी। मो. इरशाद ने बताया कि मो. कैसर और मो. मोसलीम मिलकर सभी जमीन पर कब्जा करना चाहता था। यह विवाद 2013 से ही चल रहा था। इरशाद ने बताया कि रविवार की सुबह जब जहांगीर मजदूर लेकर जमीन पर गया तो वहां मोरसलीम व कैसर अपने करीब 20 लोगों को लेकर पहुंच गए और जमीन पर कब्जा करने लगे।

विरोध करने पर सलीम ने पहले इरशाद पर गोली चला दिया, लेकिन गोली नहीं लगी। जब जहांगीर ने इरशाद को बचाने के लिए आगे बढे तो मो. कौसर ने गोली चला दी और गोली सीधे जहांगीर की बांए तरफ छाती में लगी और जहांगीर मूर्छित होकर वहीं जमीन पर गिर गया।

खबरें और भी हैं...