पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Floods In Bihar Update; Gandak River Water Level Increase, East Champaran And Gopalganj Contact Cut Off

पूर्वी चंपारण और गोपालगंज का संपर्क कटा:गंडक का जलस्तर बढ़ने से सत्तरघाट पुल के पास दो स्थानों पर काटा गया अप्रोच रोड, 50 लाख की आबादी प्रभावित

मोतिहारीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोतिहारी में सत्तरघाट पुल के पास काटा गया अप्रोच रोड। - Dainik Bhaskar
मोतिहारी में सत्तरघाट पुल के पास काटा गया अप्रोच रोड।
  • CM ने सालभर पहले ही किया था 263.48 करोड़ की लागत से बने पुल का उद्घाटन

बारिश के कारण मोतिहारी में गंडक नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। इसके कारण केसरिया स्थित सत्तरघाट पुल पर पानी का दबाव काफी बढ़ गया है। अनहोनी की आशंका को देखते हुए DM शीर्षत कपिल अशोक के आदेश के बाद अप्रोच रोड को दो जगह से काट दिया गया है। साथ ही लोगों के आवागमन पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई है। इससे पूर्वी चंपारण और गोपालगंज के बीच सड़क संपर्क टूट गया है। इससे लगभग 50 लाख की आबादी प्रभावित होगी।

दक्षिण छोर पर काटा गया अप्रोच रोड

पहला पुल के दक्षिण छोर पर अप्रोच रोड को करीब 10 फीट की चौड़ाई तक काटा गया है। दूसरा कटाव इससे करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर किया गया है। इस कारण उक्त जगह से पानी तेजी से बह रहा है। निगम के एक अधिकारी ने बताया कि बाढ़ के पानी के बढ़ते दबाव के कारण उक्त कार्रवाई की गई है। उन्होंने बताया कि स्थिति को देखने के बाद एक स्थान पर और काटने पर विचार किया जाएगा।

263.48 करोड़ की लागत से बना था

केसरिया प्रखंड के सुन्दरापुर के पास गंडक नदी पर 263.48 करोड़ की लागत से बने उच्चस्तरीय RCC पुल का उद्घाटन 16 जून 2020 को CM नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए किया था।

हालांकि वर्ष 2020 में आई बाढ़ के कारण गोपालगंज सीमा के पकहां के समीप उक्त अप्रोच रोड टूट गया था, जिसकी गूंज विधानसभा में भी सुनने को मिली थी। चम्पारण सीमा में काटे गए अप्रोच रोड पर पहुंचे बैकुंठपुर के पूर्व विधायक मंजीत कुमार सिंह ने कहा कि अगर इस मार्ग में छोटे-छोटे पुल-पुलिया बनाए गए होते, तो आज ऐसी स्थिति नहीं आती।

आवागमन बाधित होने का नहीं लगाया गया नोटिस

केसरिया से गोपालगंज की तरफ इस सड़क मार्ग से जाने वाले लोगों को काफी परेशान झेलनी पड़ रही है। प्रशासन ने ऐसा कोई सूचना पट्ट भी इस अप्रोच रोड के प्रारंभिक स्थान पर नहीं लगाया गया है, जिसे देख लोग यह जान सकें कि उक्त पथ पर आवागमन बंद है। हालांकि पुल के समीप बांस का बैरियर लगाया गया है, जिसके कारण इस मार्ग से लंबी दूरी तय करने वाले लोगों को डुमरियाघाट व बंगरा पुल का सहारा लेना पड़ रहा है।

अस्थायी रूप से रोकी गई है आवाजाही

DM शीर्षत कपिल अशोक ने बताया कि वाल्मीकि नगर बराज से पानी छोड़े जाने के कारण गंडक नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी हो रही है। गंडक का जलस्तर बढ़ने से सत्तरघाट पुल व अप्रोच रोड पर दबाव बढ़ने की संभावना है। इस कारण इस पुल से होकर आने-जाने की अनुमति पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी गई है। पानी का दबाव कम होने के बाद इसे दुरुस्त कर आने-जाने की अनुमति दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...