पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Folk Singer Neha Singh Rathore New Song On Coronavirus With Bihar's Migration Tregedy

नेहा सिंह राठौर का कोरोना-गारी गीत सुना आपने?:बिहार की लोक गायिका ने कोरोना को शादी और मजाक के रिश्ते से जोड़ा, प्रवासियों का दर्द भी गीत में डाला

पटनाएक महीने पहले
लोक गायिका नेहा सिंह राठौर।

बिहार की चर्चित लोक गायिका नेहा सिंह राठौर ने कोरोना महामारी को खूब गालियां दी हैं। गालियां दी हैं तो अपने अंदाज में दी है। कोरोना को शादी और मजाक वाले रिश्ते से जोड़ कर कहा है - कोरोनवा के दईबे चुनि-चुनि गारी.. दहिजरा के दइबे चुनि-चुनि गारी.... कोरोनवां के दईब चुनि-चुनि गारी.... नेग नवछावर न मिलल अबकी बारी...।

नेहा, मजाक वाले रिश्ते की छोटकी ननद की भी बात करती हैं और कहती हैं - छोटकी ननदिया के अइठल जुबनवां....लॉकडाउन में रुकल गवनवां...। नेहा ने इस 'कोरोना गारी' गीत में बिहार से पलायन का दर्द भी सामने रखा है। कहती हैं - लम्हर-छरहर बलम अलबेला... हम हैं बिहार में.... ऊ यूपी अकेला...फोनवा पर होला प्यार वाली बतिया....कहिया आई मिलन वाली रतिया.....कोरोनवां के देब चुनि-चुनि गारी।

मां बीमार थीं, अब ठीक होकर घर पर हैं

नेहा सिंह राठौर की मां भी कोविड महामारी की चपेट में आ गई थीं और मुश्किल से उनकी जान बचाई जा सकी। उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराया गया। उस समय उन्होंने अपनी मां को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने की मांग सरकार से की थी। रामगढ़ के विधायक सुधाकर सिंह ने उनकी काफी मदद की थी। चर्चित कवि कुमार विश्वास ने भी उनकी मां के लिए लोगों से अपील की थी। अब उनकी मां स्वस्थ है और भभुआ के रामगढ़ के जंदहा गांव में रह रही हैं।

गांव में हुई कोरोना जांच पर भी सवाल उठाया था

नेहा हाल में उस समय भी खूब चर्चा में आई थीं जब उन्होंने अपने गांव में हुई कोरोना जांच पर सवाल उठाया था। कहा था कि उनके गांव की जनसंख्या 900 है और उसमें से 35 लोगों की जांच कर पूरे गांव को कोरोना मुक्त बता दिया था।

खबरें और भी हैं...