बिहार के पूर्व DGP भड़के:अभयानंद ने सरकार के सलाहकारों को बताया दलाल, कहा- सरकारी खर्चे पर सलाह देने वाले लें पूरी जिम्मेवारी

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार के पूर्व DGP अभयानंद सरकारी सलाहकारों पर भड़क गए हैं। उन्होंने गुरुवार को सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए सरकार में मौजूद सलाहकारों की फौज और उनके ऊपर होने वाले खर्च पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है- "सलाहकारों को अपनी सलाहों की जिम्मेवारी भी लेनी चाहिए।'

केन्द्र से लेकर राज्य सरकार तक में मौजूद सलाहकारों पर तंज कसते हुए पूर्व DGP ने कहा है- "इन्हें अलग-अलग विभागों में विशेषज्ञ के तौर पर महज सलाह देने के लिए रखा जाता है। नीतिगत रूप से भी जो व्यक्ति सरकारी वेतन पर सलाह देता है, उसको अपने सलाह की पूरी जवाबदेही लेनी चाहिए। अगर यह नहीं होता है तो सलाहकार और दलाल में कोई अंतर नहीं रह जाएगा है।'

...जब बदलना पड़ा निर्णय

अपने सेवा काल की घटनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा- "नौकरी जब शुरू की थी तब जानकारी दी गई थी कि सरकार के मुख्य सलाहकार मुख्य सचिव होते हैं। जैसे-जैसे समय बीता मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री ने अपने चारों तरफ सलाहकारों की सेना खड़ी कर ली।

मैं जब DGP था, तब एक चर्चा सुनने को मिली कि पुलिस विभाग के लिए सलाहकार नियुक्त किए जाएंगे। मैंने अनौपचारिक रूप से अपनी भावना राज्य प्रमुख तक पहुंचा दी कि जो सलाह देंगे, वही उसे क्रियान्वित भी करें। यह नहीं होगा कि सलाहकार सलाह देकर किनारे हो जाएंगे और क्रियान्वयन की ज़िम्मेदारी कोई और लेगा। अगर अच्छा हुआ तो सलाहकार महोदय की वाह-वाह और खेल बिगड़ा तो ठीकरा किसी और के सर। लगता है यह बात राज्य प्रमुख को सही लगी और पुलिस में कोई सलाहकार नियुक्त नहीं हुआ। अन्य विभागों में हुआ।'

खबरें और भी हैं...