पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Foundation Day Of RJD; Tej Pratap Was Doing Puja, Then Lalu Prasad Called And Asked To Go To The Program Early

लालू के फोन पर पार्टी के कार्यक्रम में गए तेजप्रताप:स्थापना दिवस पर तेजप्रताप बोले- मैं पूजा कर रहा था तभी पिता जी का फोन आ गया, बोले-जल्दी से पार्टी ऑफिस जाओ कार्यक्रम में

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तेजप्रताप यादव। - Dainik Bhaskar
तेजप्रताप यादव।

तेजप्रताप यादव अपने भाषणों में इशारों-इशारों में बात करने लगे हैं। वे जब बोलते हैं तो साथ में यह भी बोलते हैं कि यहां बैठे समझने वाले समझ गए होंगे कि वे क्या और क्यों बोल रहे हैं? राष्ट्रीय जनता दल के 25वें स्थापना दिवस के मौके पर सोमवार को आने की कहानी भी उन्होंने इसी शैली में बयां की।

तेजप्रताप यादव ने कहा कि वे अपने आवास पर पूजा कर रहे थे और उसी समय पिता जी का फोन उनके पास आया। उन्होंने पूछा- क्या कर रहे हो? मैंने कहा कि पूजा कर रहा हूं। पिता जी ने कहा- जल्दी से पार्टी ऑफिस जाओ, कार्यक्रम में। उसके बाद मैं तैयार होकर यहां आ गया। पूजा-पाठ में में देर हो गई और तेजस्वी हमसे पहले आकर बैठ गए।

कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा खूब रही

तेजप्रताप के यह कहने के पीछे का भाव क्या रहा? आयोजन स्थल पर पहुंचे कार्यकर्ता आपस में इस पर बात करते दिखे। किसी ने कहा कि तेजप्रताप कार्यक्रम में आना नहीं चाहते थे, लेकिन लालू प्रसाद के कहने के बाद आए हैं। पार्टी कार्यालय के बाहर लगे बधाई वाले मुख्य पोस्टर में तेज प्रताप यादव का फोटो नहीं था। लालू प्रसाद, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव का फोटा था। यह खबर जब मीडिया पर चली तो तेजस्वी और तेज प्रताप यादव वाला एक पोस्टर मुख्य गेट पर लगाया गया।

हिंदू धर्म के अंधविश्वास की भी चर्चा आयोजन में

एक तरफ पार्टी के वरिष्ठ नेता उदय नारायण चौधरी ने रजत जयंती समारोह में कहा कि लालू प्रसाद ने हिंदू धर्म के अंधविश्वास और रूढ़ीवाद के खिलाफ आंदोलन चलाया और उसे आगे बढ़ाने की जरूरत है। दूसरी तरफ लालू प्रसाद के बड़े सुपुत्र आयोजन में माथे पर त्रिपुंड लगाकर कर आए। वे वृदांवन भी अक्सर जाते रहते हैं और वहां के पंडितों को पटना बुलवाकर प्रवचन भी करवाते हैं। वे कभी कृष्ण तो कभी शिव का रूप भी धरते रहे हैं। कई अंगुठियां भी पहनते हैं। सकारात्मक ऊर्जा से भरे रहते हैं।

लोग लालू प्रसाद का मजाक उड़ाते थे, मेरा भी उड़ाते हैं

खास बात यह कि तेजप्रताप यादव ने आरोप लगाया कि कुछ लोग आकर पार्टी ऑफिस में बैठे रहते हैं, लोगों के बीच नहीं जाते। यह भी कहा कि लोग उनसे चिढ़ते हैं और पीछे से खींचते हैं। कहा कि लोग लालू प्रसाद का भी मजाक उड़ाते थे और जब मैं बोलता हूं तो लोग मेरा भी मजाक उड़ाते हैं।

खबरें और भी हैं...