8 पैर-4 कान वाले बकरी के बच्चे का हुआ जन्म:भोजपुर में अजीबोगरीब बच्चे को देखने के लिए घर में जुटी लोगों की भीड़, बकरी पालक ने कहा- मेरे लिए तो यह शुभ है

आरा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बकरी ने तीन बच्चों को जन्म दिया। इसमें दो बच्चे नॉर्मल हैं। जबकि तीसरे बच्चे के 8 पैर व 4 कान थे। - Dainik Bhaskar
बकरी ने तीन बच्चों को जन्म दिया। इसमें दो बच्चे नॉर्मल हैं। जबकि तीसरे बच्चे के 8 पैर व 4 कान थे।

एक बकरी पालक के घर बुधवार को तब सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई, जब उसकी बकरी ने 8 पैर और 4 कान वाले बच्चे को जन्म दिया। गांव में जिसे भी यह सूचना मिली, वो भागता हुआ बकरी के बच्चे को देखने पहुंच गया। हालांकि, बकरी का यह बच्चा केवल 4 घंटे ही जीवित रहा। मामला सिकरहटा थाना क्षेत्र के कुरमुरी गांव का है। इधर, बकरी पालक ने बताया कि ऐसे रूप में पशु का जन्म लेना कुछ लोग शुभ तो कुछ लोग अशुभ मानते हैं, लेकिन मैं इसे शुभ ही मानता हूं।

दरअसल, पितांबर रवानी अपने घर पर बकरी पालन करते हैं। बुधवार को बकरी ने तीन बच्चों को जन्म दिया। इनमें से दो बिल्कुल सामान्य थे, जबकि तीसरे बच्चे के 8 पैर और 4 कान थे। देखते ही देखते यह खबर आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। इसके बाद बकरी के इस बच्चे को देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट गई।

गांव में जिसे भी बच्चे के बारे में सूचना मिली, वो भागता हुआ उसे देखने के लिए पहुंच गया।
गांव में जिसे भी बच्चे के बारे में सूचना मिली, वो भागता हुआ उसे देखने के लिए पहुंच गया।

पितांबर रवानी ने बताया कि वह करीब 5 साल से बकरी पाल रहे हैं। सुबह बकरी ने तीन बच्चों को जन्म दिया। इसमें दो बच्चे नॉर्मल हैं, जबकि तीसरे बच्चे के 8 पैर और 4 कान थे। इस बच्चे को देखकर पितांबर रवानी भी कुछ देर तक आश्चर्यचकित रह गए। वहीं, इस मामले में अवर प्रमंडल पशु पालन पदाधिकारी डॉ. राजेश कुमार ने कहा कि कुछ जानवरों में मोनोसिफैलिक ओक्टापस कॉनजॉइंड के कारण इस तरह के लक्षण देखने को मिलते हैं। भ्रूण का विकास पूर्ण रूप से नहीं हो पाता है। इसी कारण इस तरीके की समस्या देखने को मिलती है।

खबरें और भी हैं...