• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Government Hospitals Water Logging Problems In Patna; Snakes In Gardanibag Hospital Campus

पटना के सरकारी अस्पताल में सांपों का डेरा:OPD में 48 घंटे से बारिश पानी भरा है, मरीज को सांप दिखा तो चीख पड़ा; बोला- जरा सा आगे बढ़ता तो डस लेता

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गर्दनीबाग अस्पताल कैंपस में घुसा पानी। - Dainik Bhaskar
गर्दनीबाग अस्पताल कैंपस में घुसा पानी।

पटना के गर्दनीबाग सरकारी अस्पताल की ओपीडी में जहरीले सांपों का डेरा है। बारिश के पानी के साथ अंदर आए सांपों के कारण मरीजों को डसने का डर भी है। यहां जहरीले सांप घूम रहे हैं। नजर चूक जाए तो कोई जान से हाथ धो सकता है। अस्पताल कैंपस में 48 घंटे से पानी भरा है। मरीजों का आरोप है कि पानी में सांप बाहर घूम रहे हैं। बारिश के दिनों में इस अस्पताल में सांप निकलने की घटनाएं होती रही हैं।

पानी की वजह से मरीजों को हो रही परेशानी।
पानी की वजह से मरीजों को हो रही परेशानी।

कुत्ता काटने का इंजेक्शन लगाने आए थे, सांप काटने से बचे

यारपुर के रहने वाले राज कुमार के 4 साल के बच्चे प्रदीप को कुत्ते ने काट लिया था। वह उसे लेकर सोमवार दोपहर गर्दनीबाग अस्पताल पहुंचे। अस्पताल कैंपस में पानी भरा था, इस कारण से वह जिला स्वास्थ्य समिति के गेट से अंदर गए और बच्चे को लेकर वार्ड में पहुंच गए। राज कुमार के होश उड़ गए और वह चीख पड़ा। इसके बाद वह बच्चे को गोद में लेकर भागा। वह इतना डर गया था सांस ही नहीं ले पा रहा था।

राज कुमार ने बताया कि वह अस्पताल में जहां मरीज भर्ती किए जाते हैं वहां पहुंचा और आगे बढ़ ही रहा था कि सामने एक बड़ा काला सांप दिख गया। वह थोड़ा सा आगे बढ़ा होता तो सांप डस भी सकता था।

सफाई नहीं होने से सांपों का डेरा बना अस्पताल

गर्दनीबाग अस्पताल में सफाई नहीं होने से काफी झाड़ उग आए हैं। अस्पताल का कचरा और कबाड़ भी कैंपस में ही फेंका जाता है। अस्पताल के बगल में रेल लाइन है और वहां भी पेड़ व झाड़ है। इस कारण से आसपास के एरिया में सांपों का डेरा बना है। अस्पताल में पीछे की तरफ काफी कबाड़ है।

पोलियो के बॉक्स से लेकर अन्य कबाड़ हैं, जिसमें सांप पलते हैं। अस्पताल का भवन भी पुराना है और नमी अधिक होने से खतरा बना रहता है। दिन में ही अंधेरा रहता है। इस कारण से डॉक्टर और स्टाफ भी डरते हैं। स्टोर से लेकर वैक्सीन रूम में दिन में भी पर्याप्त उजाला नहीं रहता है। रात में तो अस्पताल में खतरा अधिक होता है।

वैक्सीन स्टोर में आए दिन निकलते थे जहरीले सांप

गर्दनीबाग अस्पताल कैंपस में ही वैक्सीन का जिला स्टोर है। यह काफी पुराना है। हालांकि अब थोड़ी मरम्मत के बाद हालत सुधरी है, नहीं तो मशीन की गर्मी पाकर सांप स्टोर में आ जाते थे। कई बार कर्मचारी जान बचाकर भागते हैं। पूरे कैंपस में सांप का खतरा कबाड़ और साफ सफाई नहीं होने के कारण बना है।

पानी में कैसे चलेगी OPD

गर्दनीबाग अस्पताल में 48 घंटे से पानी भरा है। सोमवार को भी लोग अस्पताल के अंदर नहीं पहुंच पाए। अस्पताल कैंपस में गंदा पानी इकट्‌ठा होने से लोगों को OPD तक जाना भी मुश्किल हो रहा है। पानी कब हटेगा कोई भरोसा नहीं है। बरसाती पानी अस्पताल की गंदगी के साथ मिलकर सड़ रहा है जो बीमारी का बड़ा कारण बन सकता है। ऐसे में आसपास के मरीजों को काफी परेशानी होगी। इलाज के लिए उन्हें भटकना पड़ेगा। अस्पताल की तरफ से भी पानी को हटाने का कोई इंतजाम नहीं किया जा रहा है और न ही सांप व अन्य जीवाणु वायरस से बचाव के लिए दवा का छिड़काव किया जा रहा है।

इनका क्या है कहना

गर्दनीबाग अस्पताल की अधीक्षक डॉ. मंजुला रानी ने कहा कि अस्पताल का भवन काफी नीचे है। सामने सड़क ऊंची है और पीछे रेल लाइन है। इस वजह से बरसात के दिनों में पानी निकलने का कोई रास्ता नहीं है। वहीं, नगर निगम से बोला गया था कि जिस पर पानी निकाला गया, लेकिन बारिश होगी तो फिर यह स्थिति बन सकती है। वहीं, सांप वाले मामले पर उन्होंने बताया कि पानी की वजह से सांप आ जाते हैं। क्योंकि रेलवे लाइन की तरफ पेड़-पौधे हैं और बरसात में सांप अस्पताल की तरफ आ जाते हैं। बचाव के लिए दवाओं का छिड़काव किया जाता है।

खबरें और भी हैं...