पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Grameen Vikas Sewa Sangh Letter To Governor To Cancel Bihar Panchayat Election 2021

ग्रामीण विकास सेवा संघ का राज्यपाल को लेटर:एक BDO की जान जा चुकी, 500 अधिकारी संक्रमित, फिर भी आपदा ड्यूटी कर रहे, पंचायत चुनाव में लगे तो भयानक परिणाम होगा

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीण विकास सेवा संघ ने लेटर के माध्यम से 6 सूत्री समस्याओं को राज्यपाल के सामने रखा है। - Dainik Bhaskar
ग्रामीण विकास सेवा संघ ने लेटर के माध्यम से 6 सूत्री समस्याओं को राज्यपाल के सामने रखा है।

बिहार सरकार पंचायत चुनाव को लेकर ऐसे दोराहे पर खड़ी है, जहां मन तो चाहता है चुनाव कराने का लेकिन तंत्र ने हाथ खड़े कर दिए हैं। एक ओर राज्य निर्वाचन आयोग तैयारियों में लगा है तो दूसरी ओर ग्रामीण विकास सेवा संघ ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर पंचायत चुनाव को फिलहाल स्थगित करने की मांग की है। संघ ने अपनी 6 सूत्री समस्याओं को सामने रखा है। कहा है कि प्रखंड विकास पदाधिकारी के साथ अंचल स्तरीय सभी पदाधिकारी-कर्मी 24 घंटे कोरोना आपदा प्रबंधन में लगे हैं। प्रखंड स्तर पर आपदा प्रबंधन के लिए पदाधिकारी-कर्मियों की अलग व्यवस्था नहीं है। वर्तमान परिस्थिति में अगर सभी पदाधिकारी- कर्मी आपदा प्रबंधन को छोड़ निर्वाचन कार्य में जुट जाएंगे तो इसका भयानक परिणाम होगा।

नूरसराय BDO की मौत का दिया हवाला

संघ ने अपनी चिट्ठी में नूरसराय के BDO राहुल कुमार के कोरोना संक्रमण से मृत्यु की भी चर्चा की है। यह भी कहा है कि वर्तमान में प्रखंड और अंचल स्तर पर 500 से अधिक पदाधिकारी-कर्मी कोरोना संक्रमित हैं। अन्य भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं। निर्वाचन कार्य में कोरोना संक्रमित होने का खतरा कई गुणा बढ़ जाता है।

ग्रामीण विकास सेवा संघ के उठाए अन्य मुद्दे

  • संघ ने कहा है कि 33% उपस्थिति के निर्देश की वजह से वर्तमान में कर्मियों की भी कमी है।
  • नामांकन, मतदान, मतगणना आदि के दौरान वास्तविकता में दूरी अनुपालन संभव नहीं होता है।
  • कोविड निर्देश मात्र आदेशों में ही अंकित होते हैं, धरातल पर वास्तविकता से कोई मेल नहीं होता है।
  • पंचायत निर्वाचन में 1-2 विकास मित्र, सहायक स्तर के दंडाधिकारी और नाम मात्र के पुलिस बल से औपचारिकता होती है। भीड़ को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  • संघ ने सहकारी समितियों का निर्वाचन, परीक्षाएं रद्द किए जाने का भी हवाला दिया है।
  • साथ में कहा है कि बिहार के अन्य कई संगठन - अभियंत्रण सेवा, राजस्व सेवा,शिक्षक संघ आदि ने भी चुनाव रद्द किए जाने की मांग की है।

आयोग ने निर्धारित कर दी है ट्रेनिंग की तारीख

राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिला पदाधिकारियों को चिट्ठी लिख निर्वाचन प्रक्रिया को लेकर प्रशिक्षण में शामिल होने को कहा है। इसमें नामांकन, संवीक्षा, मतदान प्रबंधन, EVM जानकारी, मतगणना, IT नॉलेज, कोविड दिशा-निर्देश, विधि व्यवस्था को लेकर प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह ट्रेनिंग वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए आयोजित की जाएगी। 22 अप्रैल से 24 अप्रैल तक चलने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को तीन-तीन प्रमंडल में बांटा गया है। पटना, सारण, कोसी की ट्रेनिंग 22 अप्रैल को होगी। 23 अप्रैल को तिरहुत, दरभंगा, पूर्णिया और 24 अप्रैल को मगध, मुंगेर व भागलपुर की ट्रेनिंग होगी। ट्रेनिंग के लिए सुबह 11 बजे से 1 बजे का समय तय किया गया है।

खबरें और भी हैं...