• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Hemant Soren VS Nitish Kumar; Jharkhand CM Hits Out At Bihar Chief Minister Over Magahi Bhojpuri

बोली को लेकर हेमंत पर भड़के CM नीतीश:कहा- पता नहीं लोग पॉलिटिकली क्या-क्या बोलते रहते हैं, काहे का कोई बोली दबंग होगा, कोई भी बोली एक राज्य की होती है क्या

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जनता दरबार के बाद मीडियकर्मियों से बातचीत करते CM नीतीश कुमार। - Dainik Bhaskar
जनता दरबार के बाद मीडियकर्मियों से बातचीत करते CM नीतीश कुमार।

झारखंड के CM हेमंत सोरेन के मगही-भोजपुरी बोली पर बयान को लेकर बिहार के CM नीतीश कुमार सोमवार को भड़क गए। उन्होंने जनता दरबार के बाद कहा कि पता नहीं कुछ लोग इस तरह के बयान देकर कौन सी राजनीति करते हैं, जबकि बिहार-झारखंड आपस में भाई है।

नीतीश कुमार ने कहा कि जिन लोगों को इस बात का कोई एहसास नहीं है, बिहार तो एक ही था। फिर बिहार दो हिस्से में बंटा। कोई भी भाषा दबंग नहीं होती है। बिहार के लोगों को और झारखंड के लोगों को एक-दूसरे के प्रति पूरा प्रेम है। पता नहीं लोग पॉलिटिकली क्या-क्या बोलते रहते हैं। हम लोग तो एक-दूसरे की इज्जत करते हैं, एक-एक व्यक्ति का सम्मान करते हैं। बिहार और झारखंड तो दोनों भाई है। आपस का है, एक ही परिवार के हैं सब लोग। वैसे पूरे देश के लोग एक परिवार के हैं। वैसे इसे विशेष तौर पर मान कर चलिए।

बंटवारे के बाद हुई थी बर्बादी
जनता दरबार के बाद पत्रकारों से बात करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार को झारखंड पर, झारखंड को बिहार पर बोलने की कोई आवश्यकता नहीं है। दोनों को प्रेम है। पहले बिहार में जो लोग थे, पहले झारखंड में जाते थे। अब कोई बिहार से झारखंड जाता है। यह पुराने जमाने की बात थी। अब कोई नहीं जाता है। जानते हैं ना, बिहार और झारखंड का बंटवारा हुआ था तो, बिहार में कितनी मायूसी आ गई थी। झारखंड अलग हो गया तो बिहार बर्बाद हो जाएगा, कुछ नहीं रहेगा।

बिहार के लोगों को वह बातें याद नहीं रहती हैं। बिहार में अब कितना विकास हुआ है, कितना काम हुआ है। बिहार झारखंड बंटा तो बहुत सारे इंस्टिट्यूशन का निर्माण झारखंड में किया गया था। यहां तक कि पुलिस ट्रेनिंग भी वहीं होती थी। फिर से बिहार में सब कुछ नए तरीके से विकसित किया गया है। यह सब एक अलग विषय है।

लाभ लेना चाहते हैं हेमंत सोरेन

नीतीश कुमार से पूछा गया कि हेमंत सोरेन ने भोजपुरी मगही को दबंग भाषा कहा है तो नीतीश कुमार ने कहा कि काहे का कोई भाषा दबंग होगा, कोई भी लैंग्वेज एक राज्य का होता है क्या? सब अलग अलग राज्य में रहते हैं। यूपी में जो बोलता है बिहार में बोलते हैं। बिहार वाले यूपी में बोलते हैं। झारखंड वाले बिहार में बोलते हैं। पता नहीं उनकी कोई इच्छा हो सकती है, इसका कोई लाभ लेना चाहते हैं।

खबरें और भी हैं...