• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • JDU Leaders Sanjay Singh Upendra Kushwaha And MP Lalan Singh Given Task To Attack Those Who Attack CM Nitish Kumar

JDU के 3 फायरब्रांड नेता तैयार:CM नीतीश पर हमला बर्दाश्त नहीं करते, मुंहतोड़ जवाब देते हैं ये; संजय सिंह तो सदन में हाथापाई को उतारु दिखे थे

पटना5 महीने पहलेलेखक: बृजम पांडेय
  • कॉपी लिंक

अब बिहार CM नीतीश कुमार पर हमला करने वालों की खैर नहीं। JDU ने अपनी तरफ से फायरब्रांड नेताओं की एक फेहरिस्त खड़ी की है, जो CM नीतीश कुमार की छवि और आचरण पर बोलने वालों को मुंहतोड़ जवाब देगी। JDU के यह फायरब्रांड नेता अपने सहयोगी दल के नेताओं को भी नहीं बख्शेंगे। इसमें पहला नाम मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह का है, दूसरे नंबर पर JDU में नए-नए आए उपेंद्र कुशवाहा हैं। वहीं तीसरे नंबर पर सांसद ललन सिंह हैं।

इन सभी नेताओं को प्रदेश से लेकर केंद्र तक की जिम्मेवारी मिली है। संजय सिंह और उपेंद्र कुशवाहा ने प्रदेश की कमान संभाली है, तो ललन सिंह ने केंद्र की। यह सभी नेता CM नीतीश कुमार की छवि को धूमिल करने वाले नेताओं को करारा जवाब दे रहे हैं।

नीतीश कुमार पर अंगुली उठाने वाले की अंगुली तक काट लेने की बात कह चुके हैं उनके सिपहसालार।
नीतीश कुमार पर अंगुली उठाने वाले की अंगुली तक काट लेने की बात कह चुके हैं उनके सिपहसालार।

संजय सिंह, MLC, मुख्य प्रवक्ता (JDU)

3 जून को BJP MLC टुन्ना जी पांडेय ने कहा कि मैं नीतीश कुमार जिंदाबाद नहीं कहूंगा। नीतीश परिस्थितियों के CM हैं। हमारे नेता नहीं हैं। हां वह NDA का हिस्सा हैं और बिहार के मुख्यमंत्री जरूर हैं। मेरे लिए सीवान की जनता ही सबकुछ है।

इस पर संजय सिंह ने कहा कि शराब माफिया रहे टुन्ना पांडेय का भाई RJD से विधायक है। वो तो NDA के खिलाफ प्रचार भी करते हैं। संजय सिंह ने साफ कहा कि जो नीतीश कुमार पर अंगुली उठाएगा, उसकी अंगुली काट लेंगे।

सदन में सुबोध राय से मारपीट तक कर बैठे थे संजय

यह पहली बार नहीं जब संजय सिंह, नीतीश कुमार के पक्ष में मरने-मारने को आतुर हो गए हैं। तेजस्वी यादव को रोज करारा जवाब देने वाले संजय सिंह ने इसी साल 24 मार्च को RJD MLC सुबोध राय की बोलती सदन में बंद कर दी थी। सुबोध राय बार-बार CM नीतीश कुमार पर कटाक्ष कर रहे थे। तभी संजय सिंह, सुबोध राय के सामने जा पहुंचे। यदि उन्हें पकड़ा नहीं जाता तो नौबत हाथापाई की थी। संजय सिंह कुछ दिन पहले ही राज्यपाल कोटे से MLC मनोनीत हुए थे।

उपेंद्र कुशवाहा, JDU MLC, संसदीय दल अध्यक्ष

21 अप्रैल को जब बिहार में नाइट कर्फ्यू लगा तो BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने इसके खिलाफ बयान में कहा - यहां कोई नाइट लाइफ नहीं है, इसकी जरूरत नहीं है। तब उपेंद्र कुशवाहा ने उन्हें राजनीति नहीं करने की सलाह दी थी। कुशवाहा ने BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल पर निशाना साधते हुए कहा था कि अपनी ऊर्जा कोरोना के खिलाफ जारी जंग में लगाएं।

3 जून को BJP MLC टुन्ना जी पांडेय के CM नीतीश कुमार पर बयान के बाद उपेंद्र कुशवाहा ने पलटवार किया। RLSP के विलय के बाद JDU में आए उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार BJP के अध्यक्ष संजय जायसवाल से तल्‍ख सवाल किए। कहा कि अगर ऐसा ही बयान JDU के किसी नेता ने BJP या BJP के किसी नेता के खिलाफ दिया होता, तो क्‍या तब भी संजय जायसवाल चुप रहते।

ललन सिंह, सांसद, JDU

BJP प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने 21 अप्रैल को सर्वदलीय बैठक में सलाह दी थी कि बिहार में शुक्रवार शाम से सोमवार की सुबह तक लॉकडाउन घोषित हो। बैठक के अगले दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उनकी मांग दरकिनार करते हुए सिर्फ नाइट कर्फ्यू की घोषणा की। इसके बाद संजय जायसवाल ने सोशल मीडिया पर कहा कि नाइट कर्फ्यू, कोविड संक्रमण के प्रसार को कैसे रोकेगा, यह समझ से परे है। बस, यही बात JDU को नागवार गुजरी।

JDU सांसद राजीव रंजन सिंह ऊर्फ ललन सिंह ने कहा- लॉकडाउन की मांग करने वाले नेता महज अखबारी हैं। सिर्फ बैठे-बैठे ज्ञान दे रहे हैं। उन्हें समझना चाहिए कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना संकट से निबटने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

इससे पहले 28 सितंबर 2020 को JDU और BJP विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर वर्चुअल बैठक कर रहे थे। JDU की तरफ से ललन सिंह और BJP की तरफ से देवेंद्र फडणवीस व भूपेंद्र यादव थे। भूपेंद्र यादव ने सीटों के ऊंच-नीच की बात की तो ललन सिंह भड़क गए। कहा - BJP सीटों के बंटवारे से असंतुष्ट है तो अपने दम पर चुनाव लड़ ले।

खबरें और भी हैं...