पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Lalu Prasad Yadav Bail Bihar Update; Party Workers At Rabri Devi House, Distributed Sweets

कोरोना खतरे के बीच लालू आवास पर होली:कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे के चेहरे पर लगाया गुलाल, बांटीं मिठाइयां, उत्साह में लगाए नारे

पटना2 महीने पहले
पटना में राबड़ी देवी के आवास पर अबीर और मिठाई के साथ जश्न मनाते RJD के कार्यकर्ता।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को जमानत मिलने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं में गजब की खुशी देखने को मिल रही है। जमानत की खबर मिलते ही पटना में उनके समर्थक के साथ पार्टी के कार्यकर्ता अबीर और मिठाई लेकर राबडी आवास पर पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने कहा कि उन लोगों ने संकल्प लिया था कि जब तक लालू प्रसाद को जमानत नहीं होगी तब तक वे होली नहीं खेलेंगे। अब जब लालू प्रसाद को जमानत मिल गई है तब कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को अबीर लगाकर होली खेली। उन्होंने लालू प्रसाद के समर्थन में खूब नारे लगाए।

रोहिणी का रोजा, तेजस्वी की बाबाधाम यात्रा सफल

राबडी आवास पर सबसे पहले कार्यकर्ताओं ने लालू यादव की तस्वीर पर अबीर लगाई। उनका कहना था कि आज हमारी होली भी है और दिवाली भी। हालांकि लालू प्रसाद की रिहाई की खबर से खुशी में उत्साहित कार्यकर्ता यह भूल गए कि अभी कोरोना संक्रमण का खतरा है। राबड़ी देवी आवास पर कार्यकर्ता मजमा लगाए हुए दिखे। कई के चेहरों पर मास्क नहीं थे, लोग सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं कर रहे थे।

राबड़ी देवी आवास के बाहर मिठाई लिए एक कार्यकर्ता।
राबड़ी देवी आवास के बाहर मिठाई लिए एक कार्यकर्ता।

लालू प्रसाद की तस्वीर लिए एक कार्यकर्ता ने कहा कि इस होली में हमने शपथ ली थी कि लालू बिन होली नहीं। अब जब उनको बेल मिल गई है तो हम होली भी मना रहे हैं और दिवाली भी। लालू जी सबके नेता हैं। विपक्ष के नेताओं की राजनीति भी लालू जी के नाम पर ही चल रही है। सुशील मोदी तो सुबह सोकर उठने का बाद सबसे पहले लालू जी का नााम लेते हैं।

एक अन्य कार्यकर्ता ने कहा कि आज गरीबों, वंचितों और शोषितों के नेता को बेल मिली है। इसलिए सबको मिठाई बनती है। यह मिठाई पूरे बिहार में बंटेगी। हम कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए जश्न मनाएंगे। वहीं मौजूद एक दूसरे कार्यकर्ता ने कहा कि हमलोगों को बहुत खुशी है। हमलोग पार्टी ऑफिस भी जाएंगे और वहां भी मिठाई बांटेंगे।

खबरें और भी हैं...