पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मीरा कुमार हो सकती हैं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष:पार्टी दलित के नाम पर खेल सकती है बड़ा दांव; 'झा जी' की मियाद 18 सितंबर तक ही

पटना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मीरा कुमार, कांग्रेस नेता। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
मीरा कुमार, कांग्रेस नेता। (फाइल फोटो)
  • ,

बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में अब एक नए और बड़े नाम की एंट्री हो गई है। ये बड़ा नाम है मीरा कुमार का। सूत्रों का कहना है कि मीरा कुमार को बिहार कांग्रेस की कमान सौंपी जा सकती है। उनके पास संगठन और सरकार चलाने का एक लंबा अनुभव है। मीरा कुमार लोकसभा अध्यक्ष रह चुकी हैं। वो बिहार के सासाराम से कई बार सांसद भी चुनी जा चुकी हैं। वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा का कार्यकाल 18 सितंबर को खत्म हो रहा है।

प्रशासनिक अधिकारी का अनुभव रखने वाली मीरा दलित वर्ग से आती हैं। इस बार कांग्रेस आलाकमान ने तय किया है कि किसी दलित समाज के नेता को बिहार की बागडोर सौंपी जाएगी। इससे पहले कांग्रेस विधायक राजेश राम का नाम इस फेहरिस्त में था, लेकिन उनके सामने उनका अनुभव काफी छोटा है। सूत्रों की मानें तो मीरा कुमार पर आलाकमान मन बना रहा है।

कांग्रेस आलाकमान ने जताई नाराजगी

बिहार कांग्रेस के नए प्रदेश अध्यक्ष के लिए सिर्फ राजेश राम का नाम सौंपा गया था। इसको लेकर कांग्रेस आलाकमान ने एतराज जताते हुए और नामों पर विचार करने को कहा है। सूत्रों की मानें तो कांग्रेस में एक पद के लिए दो-तीन नामों पर विचार किया जाता है। इनमें से किसी एक पर सहमति बनाकर नाम को फाइनल किया जाता है। सिर्फ राजेश राम का नाम भेज देने के बाद आलाकमान ने नाराजगी जताई है। वहीं, इस बार दलित कार्ड के लिहाज से कांग्रेस को मीरा कुमार से बड़ा नाम नहीं दिख रहा है।

बिहार प्रभारी को दोबारा लिस्ट बनाने का निर्देश

कांग्रेस पार्टी ने नई कमेटी बनाने की जिम्मेदारी प्रभारी भक्त चरण दास को सौंपी थी। भक्त चरण दास ने बिहार और कांग्रेस की पूरी समीक्षा के बाद जुलाई में ही नए अध्यक्ष और कार्यकारी समिति के नाम की सूची तैयार कर इसे सौंप दी थी, लेकिन आलाकमान इस सूची से खुश नहीं हैं। कांग्रेस आलाकमान ने इस सूची को दोबारा से बनाने का निर्देश बिहार प्रभारी को दिया है।

खबरें और भी हैं...