पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:चुनावी माहौल में मुंगेर के अंदर खूब बन रहे हैं अवैध हथियार, तीन तस्करों की गिरफ्तारी के साथ ही दो मिनी गन फैक्ट्री का भंडाफोड़

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरामद हथियार व गिरफ्तार अपराधियों के साथ मुगेर एसपी लिपि सिंह व अन्य पुलिसकर्मी
  • ऑपरेशन में पुलिस के हाथ लगे दो देशी राइफल, पांच देशी कट्‌टा और तीन पिस्टल
  • तीसरी बार बरामद हुए हथियार, लगातार दूसरी बार पकड़ी गई अवैध मिनी गन फैक्ट्री

जब से बिहार विधानसभा चुनाव का दौर शुरू हुआ है, तब से अवैध हथियारों के बरामदगी का सिलसिला काफी बढ़ गया है। सबसे अधिक हथियारों की बरामदगी मुंगेर में हो रही है। चुपचाप तरीके से अवैध हथियार बनाने और इसकी सप्लाई करने के मामले में मुंगेर पहले से ही कुख्यात रहा है। अब एक बार फिर से पुलिस ने अवैध हथियारों के खेप को बरामद किया है। जबकि मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया है। इस धंधे में शामिल तीन तस्कर भी पुलिस की गिरफ्त में हैं।

गुरुवार को मुंगेर की एसपी लिपि सिंह ने इस पूरे मामले का खुलासा किया। दावा है कि बरामद हथियारों की खेप के लिए तस्कर डील करने वाले थे। सब कुछ अंदर ही अंदर सेट हो चुका था। किसी तरह इसकी गुप्त सूचना मिली और फिर पुलिस टीम ने अपनी कार्रवाई कर दी। यह पूरा मामला कासिम बाजार थाना के तहत बिच्चा गांव का है। वहीं पर लोगों की नजरों से बचाकर मिनी गन फैक्ट्री चलाई जा रही थी।

सदर एसडीपीओ नंद जी प्रसाद और कासिम बाजार के एसएचओ शैलेश कुमार की टीम ने अभय कुमार शर्मा के घर छापेमारी की। वहीं से अभय कुमार शर्मा, मो. परवेज और मिस्टर अराफात को गिरफ्तार किया। पुलिस ने दो देसी राइफल, पांच कट्टा, तीन अर्द्ध निर्मित 9 एमएम पिस्टल, दो मैगजीन, एक मैगजीन फार्मा, दो बेस मशीन, 7.65 एमएम की 10 गोलियां भी बरामद की।

धंधे को किया था दियारा में शिफ्ट
एसपी लिपि सिंह के अनुसार गिरफ्तार तस्करों से पूछताछ में कई जानकारियां मिली हैं। कई नए लोगों के नाम भी सामने आए हैं, जिनकी तलाश में छापामारी चल रही है। इन लोगों ने हथियार बनाने के धंधे को दियारा शिफ्ट कर दिया था। कुछ दिनों पहले दियारा में हुई कार्रवाई के बाद वहां से लाकर सामान को अपने घर में छिपा दिया था।

गिरफ्तार अराफात और अभय शर्मा पहले भी जेल जा चुका है। पूछताछ के दौरान पता चला कि मो. परवेज हथियार बनाने में इस्तेमाल होने वाले सामानों और गोलियों की सप्लाई करता था। वो सारे सामान को लाकर अभय शर्मा को उपलब्ध करवाता था। फिर अभय शर्मा अपने साथियों की मदद से हथियार बनाता था। और तैयार हथियारों को मो. परवेज और मिस्टर अराफात बेचता था। हथियारों को अन्य स्थानों पर भी ले जाकर बेचा जाता था।

18 और 19 को भी बरामद हुई थी खेप
अवैध हथियारों की बरामदगी के मामले में महज 5 दिनों के अंदर यह तीसरी बड़ी कार्रवाई है। 18 अक्टूबर को पीर पहाड़ इलाके में छापेमारी कर एक जगह पर छिपाकर रखे गए 11 हथियारों को पुलिस ने बरामद किया था। इसके अगले ही दिन 19 नवंबर को उसी इलाके में छापेमारी कर पुलिस टीम ने एक मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा किया था। 4 देसी कट्टा और 5 अर्द्ध निर्मित पिस्टल की खेप के साथ ही हथियार बनाने के सामान भी बरामद हुआ था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें