• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • MV Act Breaking 51% Vehicles In Bihar; Fine Collected From 346 In Checking 667 Vehicles In A Day

बिहार में 51% वाहन तोड़ रहे MV एक्ट:बिहार में चलाए गए अभियान में बड़ा खुलासा, सीट बेल्ट और हेलमेट में लापरवाह, एक दिन में 667 वाहनों की जांच में 346 से वसूला गया जुर्माना

पटना4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिवहन विभाग ने शनिवार को राज्य के कई जिलों में विशेष अभियान चलाया है। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
परिवहन विभाग ने शनिवार को राज्य के कई जिलों में विशेष अभियान चलाया है। (फाइल फोटो)

बिहार में 51 प्रतिशत वाहन MV एक्ट का पालन नहीं कर रहे हैं। यह बड़ा और चौंकाने वाला खुलासा परिवहन विभाग के अभियान से हुआ है। शनिवार को बिहार के कई जिलों में चलाए गए अभियान में 51 प्रतिशत वाहन ऐसे पाए गए हैं जो मोटर व्हीकल एक्ट का खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं। विशेष अभियान में 346 वाहनों से जुर्माना वसूला गया है जो सड़क पर नियम तोड़कर फर्राटा भर रहे थे।

हेलमेट से लेकर सीटबेल्ट कर जांच

परिवहन विभाग ने शनिवार को राज्य के कई जिलों में विशेष अभियान चलाया। इसमें हेलमेट से लेकर सीटबेल्ट तक की जांच की गई। बसों में अधिक किराए की वसूली के साथ MV एक्ट को लेकर विशेष चेकिंग की गई है। वाहनों की परमिट एवं बसों में निर्धारित दर से अधिक किराया वसूली में बड़ा खेल सामने आया है। परिवहन विभाग का कहना है कि ऐसी मनमानी को लेकर कुल 667 वाहनों की जांच की गई, जिसमें MV एक्ट का उलंघन करने वाले 346 वाहनों पर जुर्माना लगाया गया है। पटना सहित कई अन्य जिलों में चलाए गए अभियान परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल के निर्देश पर जिला परिवहन पदाधिकारी, एमवीआई और ईएसआई द्वारा चलाया गया था।

थर्ड पार्टी इश्योरेंस पर हुई कार्रवाई

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल का कहना है कि बिना थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के वाहन चलाने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई की जा रही है। ऐसे वाहनों की जांच के लिए सभी जिलों में विशेष तौर पर जांच अभियान चलाया जाएगा। परिवहन सचिव ने लोगों से अपील की है कि अपने वाहनों का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस हर हाल में कराएं। यह पूरी तरह से अनिवार्य है।

2 से 4 हजार जुर्माना देने से बचें

बिना थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के वाहन चलाते पकड़े जाने पर जुर्माने के तौर पर 2000 रुपया वसूला जा रहा है। इसमें कई दूसरी बार पकड़े जा रहे हैं जिनसे 4000 रुपए जुर्माना वसूला जा रहा है। जबकि जुर्माना से कम राशि में थर्ड पार्टी इंश्योरेंस का प्रिमियम लगता है। इसलिए अपने वाहन का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करा कर दो हजार रुपए का जुर्माना देने से बच सकते हैं।

तेज होगा जांच अभियान

परिवहन विभाग का कहना है कि अगर सुरक्षा को लेकर ध्यान नहीं दिया गया तो बड़ी कार्रवाई की जाएगी। हेलमेट-सीटबेल्ट के साथ सभी जिलों में परमिट जांच का अभियान आने वाले दिनों में और तेज किया जाएगा। मोटरवाहन अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी। बसों में निर्धारित दर से अधिक किराया वसूलने वाले बस संचालकों पर भी कार्रवाई की जाएगी। बिना थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के चलने वाले वाहनों की विशेष जांच होगी। विभाग ने आदेश जारी किया है कि सभी वाहन मालिकों को अपने वाहन का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस कराना है अनिवार्य है। बिना इंश्योरेंस के वाहन चलाने पर 2000 और दूसरी बार पकड़े जाने पर 4000 रुपए वसूला जाएगा।

खबरें और भी हैं...