पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पटना में मछुआरों की बची जिंदगी:गंगा नदी में मछली मारने निकले मछुआरों की नाव पीपा पुल से टकराकर पलटी, NDRF की टीम ने किया रेस्क्यू

पटना23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पटना में गंगा नदी में मछली मारने निकले मछुआरों की नाव पीपा पूल से टकरा कर पलट गई। नाव पलटने की जानकारी मिलते ही NDRF की टीम मौके पर पहुंच गई। रात के अंधेरे में ही रेस्क्यू ऑपरेशन कर दोनों मछुआरों को सकुशल गंगा नदी से बाहर निकाल लिया और दोनों मछुआरों की जान बच गई।

लोगों ने पुलिस को दी जानकारी

घटना पटनासिटी के आलमगंज थाना क्षेत्र के भद्रघाट की है। रात के अंधेरे में मछली मारने निकले मछुआरों की नाव पीपा पूल से टकराकर पलट गई। नाव पर सवार दो मछुआरे गंगा नदी की तेज धारा में बहने लगे। जहां मछुआरों ने अपनी जान बचाने के लिए गंगा नदी में बहते हुए मदद के लिए चिल्लाने लगे। लेकिन, उस वक्त भद्र घाट किनारे कोई भी व्यक्ति मौजूद नहीं था। गंगा नदी में तेज बहाव के कारण मछुआरे खाजेकलां घाट की तरफ बहने लगे तभी सीढ़ी घाट किनारे कुछ लोगों ने मछुआरों की आवाज सुनी और इसकी जानकारी खाजेकलां थाना की पुलिस को दी पुलिस ने फौरन इस बात की जानकारी गाय घाट स्थित NDRF की टीम कमांडर को दे दिया।

परिजनों ने NDRF की टीम को शुक्रिया कहा

NDRF की टीम ने रेस्क्यू कर दोनों मछुआरों की जान बचा लिया। गंगा की तेज धार से दोनों ही मछुआरों को बाहर निकाला गया। इसके बाद खाजेकलां पुलिस ने दोनों मछुआरों की पहचान आलमगंज क्षेत्र निवासी मो. शाहिद और मो. निसाद के रूप में किया है। वहीं घटना के के बारे में दोनों मछुआरों ने बताया कि मछली मारने के उद्देश्य से गंगा नदी में गए थे। जहां इनके नाव का संतुलन बिगड़ गया और देखते ही देखते इनकी नाव गंगा में पलट गई। गंगा की धार काफी तेज होने के कराण दोनों बहने लगे। मछुआरों के परिजनों ने NDRF की टीम को शुक्रिया कहा है।

खबरें और भी हैं...