'UP में का बा' गाने पर ट्रोल हुई नेहा, आईं:भाजपा पर साधा निशाना, बोलीं- आईटी सेल वालों ने नाक में दम कर दिया है

पटना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गायिका नेहा सिंह राठौर। - Dainik Bhaskar
गायिका नेहा सिंह राठौर।

'यूपी में का बा' गीत गाने के बाद बिहार की गायिका नेहा सिंह राठौर सोशल मीडियो पर ट्रोल होने लगी हैं। रविवार की सुबह गायिका नेहा सिंह ने अपने यूट्यूब और फेसबुक पर अपना नया पॉलिटिकल गाना रिलीज किया। जिसके बाद वो ट्रोल होने लगी। इसके बाद दोपहर को नेहा फेसबुक पर लाइव आईं और भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि- आईटी सेल ने मेरे नाक में दम कर दिया है, फेक आईडी से कमेंट किए जा रहे हैं।

फेक आईडी बनाकर कमेंट करने वालों चेहरा दिखाओ
​​​​​​सिंगर नेहा सिंह ने कहा कि- 'हम डरने वाले नहीं है। हम जनता के सवाल तो पूछेंगे ही और सवाल उसी से न पूछेंगे जो कुर्सी पर होगा! विपक्ष से तो सवाल करेंगे नहीं।' नेहा ने आरोप लगाया कि आईटी सेल वाले लड़कियों के नाम से फेक आईडी बनाकर कमेंट कर रहे हैं। कहा कि चेहरा दिखाइए, सामने आईए। हम लड़की हैं हम सामने आकर बात कर रहे हैं। अब मैंने भी ठान लिया है कि आईटी सेल वालों के अंगूठे पर घाव करवा दूंगी। लड़ाई तो अब ठन गई है। अभी तो 'यूपी में का बा' का पार्ट वन ही लाया है।

मैंने तो 'बिहार में का बा' भी गाया था
नेहा सिंह राठौर जब लाइव आकर बोल रही थीं तभी एक ने लिखा कि योगी जी से पूछने की औकात नहीं है। इसके जवाब में नेहा ने कहा कि- मूर्ख थोड़ी पढ़ाई-लिखाई कर लो, सवाल पूछा जाता है सत्ता से। जो बकवास कर रहे हैं वे जनता नहीं हैं। कहा कि मैं किसी पार्टी की सदस्य नहीं हूं। हर पार्टी की कमियां मैं गिनाती हूं। मैंने 'बिहार में का बा' गाया तब लोगों ने आरजेडी का एजेंट कहा था। लेकिन उस गीत में मैंने गाया था कि '15 साल चच्चा रहले और 15 साल पप्पा.. तबहो न मिटल बेरोजगारी के ठप्पा' । मैंने गाया था ' 30 साल शासन के देखअ बहार जिनगी से जूझे विकासवा' । इस 30 साल में लालू प्रसाद और नीतीश कुमार दोनों का शासन काल रहा है।

कब तक जनता बकलोल बनकर रहेगी
नेहा ने कहा कि मैं मूल रुप से पॉलिटिकल सटायर ही लिखती हूं और उसे गाती हूं। लेकिन लोगों ने पारंपरिक गीत गाने को कभी कहा। इसके बाद मैंने गांव की बूढ़ी महिलाओं से मिलकर पारंपरिक गीत जुटाए और उसे गाया भी। लेकिन मैं ज्यादातर पॉलिटिकल सटायर ही गाती हूं। मैं कहती हूं कि- कभी भाजपा ने, कभी सपा ने, कभी बसपा ने जनता को उल्लू बनाया। कब तक जनता बकलोल बन कर रहेगी।

मैं योगी का सम्मान करती हूं लेकिन वे मुख्यमंत्री हैं
नेहा ने कहा कि मैं तो योगियों का सम्मान करती हूं। पर वे अभी मुख्यमंत्री की भूमिका में हैं... और उनसे हम सवाल पूछेंगे। मैं कहती हूं कि कोई भी सरकार सभी कार्य अच्छे नहीं करती, गलत कार्य की आलोचना तो हम करेंगे ही। हमें तो सरकारी मंच पर गाने के लिए बुलाया भी नहीं जाता। नेहा ने इस बात को कई बार दुहराया कि ' यूपी में का बा ' गीत पर आईटी वाले जितनी रिपोर्ट करेंगे हम उतना ज्यादा दर्द अंगुलियों में करवा देंगे।