CM के आदेश का पटना में नहीं दिखा असर:पूजा पंडालों पर कोरोना जांच के साथ वैक्सीनेशन कैंप लगाने का आदेश, सिविल सर्जन तक नहीं पहुंची सूची

पटना19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार ने दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों की अनुमति इसी शर्त पर देने का आदेश दिया था कि पूजा समिति के सभी सदस्य वैक्सीनेटेड होंगे और कोरोना की गाइडलाइन का पालन करेंगे। - Dainik Bhaskar
सरकार ने दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों की अनुमति इसी शर्त पर देने का आदेश दिया था कि पूजा समिति के सभी सदस्य वैक्सीनेटेड होंगे और कोरोना की गाइडलाइन का पालन करेंगे।

CM नीतीश कुमार के आदेश का अमल भी पटना में नहीं हो पाता है। नवरात्र में पूजा पंडाल के पास कोरोना जांच और वैक्सीनेशन कैंप के आदेश का भी वही हाल है। जबकि गुरुवार से नवरात्र की शुरुआत हो चुकी है। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी अब तक सूची नहीं तैयार हो पाई है कि पटना में कितने पंडाल के पास कैंप लगाया जाना है। अब सूची मिलती भी है तो स्वास्थ्य विभाग को कैंप की व्यवस्था करने में समय लग जाएगा। जिला प्रशासन की लापरवाही से समय से विभाग को सूची नहीं मिल पाई है।

कोरोना के खतरे को लेकर आदेश

सरकार ने दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों की अनुमति इसी शर्त पर देने का आदेश दिया था कि पूजा समिति के सभी सदस्य वैक्सीनेटेड होंगे और कोरोना की गाइडलाइन का पालन करेंगे। जिला प्रशासन को जिम्मा दिया गया था कि उन्हीं पूजा समिति को पंडाल बनाने की अनुमित दे और कोरोना को लेकर अपनी जिम्मेदारी निभाएं। CM नीतीश कुमार ने पूजा पंडालों को लेकर आदेश दिया था कि इस दौरान कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाए। इसी क्रम में आदेश दिया गया कि पूजा पंडालों के पास की कोरोना की जांच और वैक्सीनेशन की भी व्यवस्था की जाए।

जिला प्रशासन को देनी थी सूची

पूजा पंडालों में कहां-कहां कोरोना की जांच और वैक्सीनेशन का कैंप लगाना है, यह प्रशासन को तय करना था। इसके लिए डीएम पटना डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने सभी अनुमंडल पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी थी। अनुमंडल से लेकर जिला स्तर पर पदाधिकारियों को भीड़ के हिसाब से ही यह तय करना था कि कहां-कहां स्वास्थ्य विभाग का कैंप लगाया जाना है। गुरुवार से नवरात्र का शुभारंभ हो गया है और पंडाल भी तैयार होने लगे हैं। अब तक जिले से स्वास्थ्य विभाग को सूची ही नहीं मिली है, जिससे कैंप की तैयारी की जा सके।

डॉक्टर के साथ पूरी टीम की करनी है व्यवस्था

पूजा पंडालों की सूची अभी पटना सिविल सर्जन कार्यालय को नहीं मिली है। सेंटर पर वैक्सीनेशन के लिए डॉक्टर के साथ वैक्सीनेटरों की पूरी व्यवस्था करनी होगी। वैक्सीनेशन के हर सेंटर पर कम से कम दो वैक्सीनेटर को लगाना होगा। ऐसे में पूरी व्यवस्था करने में भी स्वास्थ्य विभाग को समय लगेगा। सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह का कहना है कि अभी तक उन्हें कोई सूची नहीं मिली है। प्रशासन से अनुमंडल वार सूची मिलती है, इसके बाद भी हेल्थ वर्करों की ड्यूटी लगाकर जांच कैंप के साथ कोरोना का वैक्सीनेशन कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...