• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Nitish Kumar; Chief Minister Nitish Kumar Speaks On Bihar Police Favour Over Media Question

9 डिग्री टेम्परेचर में गरमा गए नीतीश:कानून-व्यवस्था के सवाल पर पत्रकारों से नीतीश बोले- पुलिस को डिमोरलाइज मत कीजिए, याद करिए 2005 में क्या होता था

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • R ब्लॉक-दीघा रोड के शुभारंभ के बाद कानून-व्यवस्था के सवाल पर भड़के
  • रुपेश हत्याकांड पर बोले- DGP ने मुझे आश्वस्त किया है, IG से लेकर SP तक लगे हुए हैं

बिहार की राजधानी पटना में सुबह टेम्परेचर 9 डिग्री के आसपास था और मुख्यमंत्री नीतीश R ब्लॉक-दीघा रोड का उद्घाटन कर रहे थे। इसी दौरान पत्रकारों ने नीतीश से राज्य की कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल कर दिया। इतने सर्द मौसम में भी नीतीश इस सवाल पर गरमा गए। उन्होंने कहा कि पुलिस को डिमोरलाइज मत करिए। हम पर आरोप लगाने से पहले याद करिए कि 2005 में क्या होता था।

DGP के जिक्र पर भी टेढ़ा जवाब, पत्रकार से पूछा- किसके समर्थक हो

इंडिगो के मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड, बच्ची से रेप और जिंदा जलाए जाने की घटना पर जब सवाल हुआ तो नीतीश ने कहा, 'जो भी दोषी होंगे, उन पर कार्रवाई होगी। पूरा पुलिस विभाग इस पर लगा हुआ है। इसका स्पीडी ट्रायल किया जा रहा है, ताकि दोषियों पर तत्काल सख्त कार्रवाई की जाएगी। DGP ने मुझे आश्वस्त किया है कि इस मामले में IG से लेकर SP तक लगे हुए हैं।'

नीतीश के इस जवाब पर मीडिया ने फिर टोक दिया कि आपके DGP तो फोन ही नहीं उठाते हैं। आप ही फोन लगाकर देखिए कि वो उठाते हैं या नहीं। इस पर नीतीश बोले कि मैं तो फोन लेकर नहीं चलता। मैं DGP को आज ही बोल दूंगा। बाद में उन्होंने DGP को फोन लगाकर निर्देश दिया कि प्रेस वालों का फोन उठाने में कोताही न करें।

पुलिस अपना काम कर रही है

नीतीश से जब ये पूछा गया कि कानून-व्यवस्था पर लगातार समीक्षा बैठकें हो रही हैं, इसका क्या नतीजा निकल रहा है? इस पर उन्होंने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है। बच्ची से रेप के सवाल पर बोले, 'याद है आपको 2005 की घटनाएं? तब क्या होता था? उस पर आपने सवाल क्यों नहीं पूछा? आप किस के समर्थक हैं। पता करिए क्राइम कौन करता है, क्राइम करने वाले कौन हैं? आपको मालूम है तो बताइए कि किस का मर्डर किसने किया है? पुलिस अपराधियों पर सख्त कार्रवाई करने के लिए तैयार है।

नीतीश ने मीडिया को गिनाए क्राइम के आंकड़े

नीतीश ने मीडिया को बिहार में कम होते अपराध के आंकड़े गिनाए। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अपराध अभिलेख ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों के मुताबिक, अपराध के ग्राफ में बिहार खिसककर 23वें नंबर पर पहुंच गया है। आज बिहार में पहले जैसी स्थिति नहीं है।

जारी किया DGP का नंबर

DGP के फोन नहीं उठाने वाले प्रश्न को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया। बाद में उनके आदेश पर प्रेस एवं मीडिया के लिए DGP का फोन नंबर जारी किया गया। DGP के हस्ताक्षर से ही उनके कार्यालय के साथ उनका मोबाइल नंबर भी जारी किया गया। ये नंबर I&PRD and CMO Webmedia और PRO Cell (CM house) व्हाट्सएप ग्रुप पर भी जारी किए गए हैं।