• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Now Every House Will Have Family Folder, Medical History Of People Will Be Recorded In Bihar; Bihar Bhaskar Latest News

बिहार में तैयार होगा बीमारी का डेटा बैंक:अब हर घर का होगा फैमिली फोल्डर, 30 साल से अधिक उम्र के लोगों की दर्ज होगी मेडिकल हिस्ट्री

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।
  • कैंसर, मधुमेह, स्ट्रोक और हृदय रोग को लेकर सरकार तैयार करा रही बीमारी का डेटा बैंक

बिहार सरकार बीमारी का डेटा बैंक तैयार करा रही है। इसके लिए हर घर का फैमिली फोल्डर तैयार किया जाएगा। यह डेटा का एक बेस होगा जिसमें हर परिवार में 30 साल से उपर के सदस्यों का पूरी मेडिकल हिस्ट्री होगी। गंभीर बीमारियों से बचाव को लेकर तैयार किए गए डेटा कलेक्शन के विशेष मॉडल से कैंसर, मधुमेह,स्ट्रोक और ह्रदय रोग पर नियंत्रण पाया जा सकेगा। बीमारियों के डेटा बैंक सामने आने के बाद फिर इस पर सरकार हेल्थ प्रोग्राम चलाएगी।

घर घर जाकर आशा भराएगी CBC फॉर्म

बीमारी के विशेष डेटा बेंक को तैयार करने और बिहार में हेल्थ के बड़े सर्वे को लेकर आशा को प्रशिक्षित किया जा रहा है। शुक्रवार को पटना में आशा को विशेष प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षकों की टीम के साथ मंथन हुई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि प्रशिक्षित आशा द्वारा अपने पोषक क्षेत्र में प्रत्येक घर में जाकर प्रत्येक परिवार का फैमिली फोल्डर तैयार करेंगी। इसमें परिवार के 30 साल से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति का CBC फॉर्म भराएंगी। ऐसे सभी व्यक्तियों का मधुमेह, उच्च रक्तचाप एवं सामान्य कैंसर की स्क्रीनिंग के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके बाद आशा लक्षण वाले लोगों को ANM के पास लेकर जाएगी. इससे राज्य में गैर संचारी रोग की स्क्रीनिंग दर में वृद्धि होगी।

प्रशिक्षण के लिए तैयार किया गया पैनल

कैंसर, मधुमेह, स्ट्रोक और ह्रदय रोग पर नियंत्रण व प्रबंधन के लिए राज्य स्तर पर आशा को गैर संचारी रोग में प्रशिक्षण देने के लिए प्रशिक्षणकों का पैनल तैयार किया गया है। पैनल तैयार करने के लिए प्रशिक्षकों काे 3 दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया गया है। 1 से 3 सितंबर तक होटल बुद्धा हेरिटेज में दिए गए प्रशिक्षण के बाद अब प्रशिक्षक विभिन्न जिलों में जाकर आशा को गैर संचारी रोग में प्रशिक्षित किया जाएगा। 5 नामांकित मास्टर ट्रेनर ने प्रशिक्षकों को ट्रेंड किया है।

मास्ट ट्रेनर तैयार, किया गया ट्रेंड

राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार की सलाहकार शालिनी सिन्हा, पटना प्रमंडल की प्रमंडलीस आशा समन्वयक नेहा कुमारी, मुजफ्फरपुर के तिरहुट प्रमंडल की प्रमंडलीय आशा समन्वयक सीमा जयसवाल, वैशाली की जिला सामुदायिक उत्प्रेरक निभा रानी, पटना के मसौढ़ी प्रखंड के प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक गिरीश रंजन को मास्टर ट्रेनर बनाया गया है। शुक्रवार को हुए प्रशिक्षण में इन लोगों को प्रशिक्षित किया गया है जो अब आशा को प्रशिक्षित करने का काम करेंगी।

राज्य स्तर से इस प्लान की निगरानी और व्यवस्था के लिए कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति, अपर कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति, राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी, एनपीसीडीसीएस, राज्य स्वास्थ्य समिति, राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी, एआरसी, राज्य स्वास्थ्य समिति, डॉ. जयती श्रीवास्तव, उपनिदेशक, प्रशिक्षण, राज्य स्वास्थ्य समिति, प्रणय कुमार, टीम लीडर, एआरसी, राज्य स्वास्थ्य समिति, डॉ. नामित कुमार, वित्त सह लोजिस्टिक सलाहकार, राज्य स्वास्थ्य समिति, अंजू लता, उप कार्यक्रम प्रबंधक, एआरसी, राज्य स्वास्थ्य समिति, प्रीति सिन्हा, सलाहकार, प्रशिक्षण, एआरसी, राज्य स्वास्थ्य समिति,पंकज कुमार, कार्यपालक सहायक, एनपीसीडीसीएस, राज्य स्वास्थ्य समिति,के अलावा केयर इंडिया एवं टाटा ट्रस्ट बिहार के प्रतिनिधियों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...