• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patient Corona Positive During Black Fungus Treatment In Bihar; Double Attack Of Corona In PMCH; Bihar Corona Latest News

ब्लैक फंगस के बाद कोविड का संक्रमण!:बिहार में सामने आया चौंकाने वाला मामला, 2 महीने में कोरोना का डबल अटैक, PMCH में निगेटिव रिपोर्ट के साथ हुआ था भर्ती

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।
  • 29 मई को PMCH में निगेटिव रिपोर्ट के साथ हुआ भर्ती, 5 जून को जांच में मिला पॉजिटव
  • संक्रमित को लेकर मचा हड़कंप, संपर्क में आए मरीज और हेल्थ वर्करों की होगी जांच

बिहार में ब्लैक फंगस का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। मामला ब्लैक फंगस के बाद कोरोना के संक्रमण का है। दो माह में कोरोना के डबल अटैक से हड़कंप है। यह पहला ऐसा मामला है, जब ब्लैक फंगस के बाद मरीज को कोरोना का संक्रमण हुआ है। सोमवार को पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद संक्रमित को कोरोना वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। दूसरी तरफ संपर्क में आए मरीजों के साथ लगभग 50 हेल्थ वर्करों की कोरोना जांच की तैयारी है।

चौंकाने वाला है अरविंद का संक्रमण

पटना मेडिकल कॉलेज में भर्ती 43 साल के अरविंद कुमार वैशाली के रहने वाले हैं। वह नियोजित टीचर हैं, इस कारण काम की जिम्मेदारी थी। इस बीच 29 अप्रैल 2021 को वह कोरोना संक्रमित हो गए। घर में रहकर इलाज कराया, अस्पताल में भर्ती होने की जरुरत नहीं पड़ी। इलाज में उन्हें स्टेरायड का इंजेक्शन दिया गया। वह कोरोना से तो जीत गए लेकिन पोस्ट कोविड सिंड्रोम के शिकार हो गए। ब्लैक फंगस की शिकायत पर 29 मई 2021 को उन्हें PMCH में भर्ती किया गया। इलाज के दौरान पहले स्टेरायड जानलेवा बना फिर PMCH की व्यवस्था भारी पड़ी। PMCH में 29 मई को भर्ती करते समय कोरोना की जांच हुई जिसमें वह निगेटिव पाए गए।

1.55 लाख में प्राइवेट में कराया ऑपरेशन

पटना मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में ऑपरेशन की सुविधा नहीं होने से मरीज की हालत बिगड़ रही थी। इंजेक्शन तो दिया जा रहा था लेकिन ऑपरेशन जान बचाने के लिए जरुरी था। PMCH में भर्ती होने के दौरान वह दो बार ऑपरेशन के लिए प्राइवेट हॉस्पिटल गए। दोनों बार कोरोना की जांच हुई जिसमें वह निगेटिव पाए गए। अरविंद ने बताया कि पटना के रूबन हॉस्पिटल में दोनों बार ऑपरेशन कराया था। पहला ऑपरेशन 4 जून को 85 हजार रुपए देकर कराया और दूसरी बार 17 जून काे 70 हजार देकर ऑपरेशन कराया। ऑपरेशन के बाद वह PMCH में भर्ती हुए। अरविंद का कहना है कि 30 जून को भी RT PCR जांच हुई जिसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। कोरोना को मात देने के बाद ब्लैक फंगस के इलाज के दौरान अरविंद की 4 बार कोरोना जांच हुई, हर बार रिपोर्ट निगेटिव आई।

अस्पताल से छुट्‌टी की तैयारी, कोरोना से मचा हड़कंप

PMCH में भर्ती अरविंद का कहना है कि बाहर से ऑपरेशन कराने के बाद ब्लैक फंगस से वह ठीक हो गए थे। ऑपरेशन के बाद ब्लैक फंगस के इंजेक्शन एम्फोटेरेसिन बी की पूरी डोज भी पूरी कर चुके थे। ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों ने भी सलाह दी थी कि इंजेक्शन की डोज पूरी होते ही घर जा सकते हैं। अरविंद का कहना है कि वह इधर काफी खुश थे कि संक्रमण से ठीक होने के बाद अब उन्हें घर जाने का मौका मिल रहा है।

हड़कंप तो तब मचा जब PMCH के डॉक्टरों ने छुट्‌टी देने से पहले एक बार ब्लैक फंगस की जांच से पहले कोरोना का टेस्ट कराया। सोमवार को रिपोर्ट आते ही हड़कंप मच गया। अरविंद कोरोना संक्रमित पाए गए। डॉक्टरों को भी विश्वास नहीं हुआ कि अचानक से ऐसा कैसे हो सकता है कि कोरोना का अटैक दो माह में दो बार कैसे हो सकता है? मरीज भी सन्न रह गया। डॉक्टरों ने आनन फानन में संक्रमित अरविंद को कोरोना वार्ड में सिफ़्ट करा दिया।

ब्लैक फंगस वार्ड में कोरोना का खतरा

ब्लैक फंगस वार्ड में अरविंद को लेकर 9 संक्रमित भर्ती थे। इसमें 8 अन्य संक्रमित थे अब कोरोना संक्रमण के संदिग्ध हो गए हैं। हालांकि सभी की रिपोर्ट निगेटिव थी लेकिन अरविंद के संक्रमित होने के बाद खतरा बढ़ गया है। ब्लैक फंगस वार्ड में 12 से अधिक वार्ड ब्वॉय​​, 4 सफाई कर्मी, 3 शिफ्ट में ड्यूटी करने वाले 30 से 35 हेल्थ वर्कर और लगभग 18 डॉक्टरों में संक्रमण का खतरा है। इसके अलावा राउंड पर आए डॉक्टर भी कोरोना संक्रमण के खतरे की जद में हैं।

काेरोना वार्ड में भर्ती होते बिगड़ी हालत

अरविंद कुमार ब्लैक फंगस वार्ड में पूरी तरह से ठीक हो गए थे। अब तो डॉक्टर भी चाह रहे थे कि उन्हें छुट्‌टी दे दी जाए, लेकिन साेमवार को फाइनल जांच के क्रम में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आते ही हड़कंप मच गया। कोरोना वार्ड में शिफ्ट करते ही अरविंद की हालत बिगड़ गई। वह रोने लगे और कोरोना वार्ड की बजाए घर जाने की गुहार लगाने लगे। कोरोना वार्ड में उनका बीपी काफी हाई हो गया और इस कारण से अन्य तकलीफ हो गई। देर रात कोरोना वार्ड में उनकी परेशानी काफी बढ़ गई थी।

खबरें और भी हैं...