पटना सिटी में बाप-बेटे डूबे:गंगा में डूबते बेटे को बचाने के लिए पिता ने लगा दी छलांग, कई घंटे की मशक्कत के बाद भी नहीं खोज पाए गोताखोर

पटना3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिता संजय कुमार और बेटा क्रिस। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पिता संजय कुमार और बेटा क्रिस। (फाइल फोटो)

बुधवार को महाष्टमी की पूजा की तैयारियों में लगे बाप और बेटे हादसे के शिकार हो गए हैं। पूजा के लिए मिट्‌टी की जरूरत थी, जिसे लाने के लिए बाप और बेटा दोनों साथ गए थे। गंगा नदी में नहाने के दौरान बेटा नदी की गहराई में चला गया। वो डूबने लगा। बेटे को डूबते हुए देख बेचैन बाप ने खुद की जान की परवाह किए बगैर नदी में छलांग लगा दी। इस पर वह भी डूबने लगा और चंद मिनटों में दोनों नदी की गहराई में समा गए। यह हादसा पटना सिटी के मालसलामी थाना के तहत पीड़दमरिया इलाके के घाट पर हुआ।

घटनास्थल पर मौजूद लोगों की भीड़।
घटनास्थल पर मौजूद लोगों की भीड़।

लोगों ने दी पुलिस को जानकारी

अचानक हुए इस हादसे से उस वक्त गंगा घाट पर मौजूद लोगों के बीच हड़कंप मच गया। घाट से ही कॉल कर लोगों ने मालसलामी थाना पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद पुलिस पहुंची। फिर SDRF की टीम को बुलाया गया। पिछले कई घंटे से टीम लगातार गंगा नदी में मशक्कत कर रही है। मगर, बाप या बेटा, दोनों में से किसी का अब तक कोई पता नहीं चला है। पुलिस के अनुसार, गंगा में डूबे व्यक्ति की पहचान 40 साल के संजय कुमार चौरसिया के रूप में हुई है। 15 साल का क्रिस इनका बेटा था।

SDRF की टीम तलाश रही

घाट पर मौजूद लोगों ने पुलिस को बताया कि क्रिस नदी में नहा रहा था। उसे नदी की गहराई का पता नहीं था। जैसे ही घाट से थोड़ा आगे बढ़ा, सीधे गहराई में चला गया। उसको डूबता देख बचाने के लिए संजय ने भी छलांग लगा दी थी। इनका परिवार सीढ़ी घाट इलाके में ही रहता है। घर में महाष्टमी की पूजा की तैयारी चल रही थी। जिस घर का माहौल भक्तिमय था, वो गम और आंसुओं में डूब गया। हादसे की जानकारी मिलते ही परिवार के लोग घाट पर पहुंचे। रो-रो कर परिवार के लोगों का हाल काफी बुरा था। SDRF की टीम अभी भी गंगा में डूबे संजय और उनके बेटे क्रिस को तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...