पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna High Court To Decide On Mumbai Law Student Petition On Sushant Singh Rajput In Next Week Hearing

सुशांत मामले पर सुनवाई हफ्ते भर टली:लॉ स्टूडेंट की याचिका सुनवाई लायक है या नहीं, तय करेगा कोर्ट; जांच कर रहे CBI अधिकारियों को बदलने की है मांग

पटना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पटना निवासी बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का शव पिछले साल 14 जून को संदिग्ध अवस्था में उनके फ्लैट से मिला था। मामले की जांच CBI कर रही है। - Dainik Bhaskar
पटना निवासी बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का शव पिछले साल 14 जून को संदिग्ध अवस्था में उनके फ्लैट से मिला था। मामले की जांच CBI कर रही है।

पटना हाईकोर्ट ने सोमवार को फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु की जांच सही तरीके से कराने की याचिका पर सुनवाई की। कोर्ट ने एडिशनल सॉलिसिटर जनरल और एडवोकेट जनरल को यह स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया है कि याचिका सुनवाई के योग्य है या नहीं। पिछली सुनवाई में कोर्ट ने किसी को नोटिस जारी करने से इनकार कर दिया था। साथ ही साथ यह भी स्पष्ट किया कि मामले की सुनवाई लंबित होने के दौरान भी विभागीय कार्रवाई पर किसी तरह की रोक नहीं होगी।

मुंबई निवासी अंतिम वर्ष के लॉ छात्र द्विवेंद्र देवतादिन देबे की याचिका पर चीफ जस्टिस न्यायमूर्ति संजय करोल व न्यायमूर्ति एस कुमार की खंडपीठ ने सुनवाई की। इस याचिका में कहा गया है कि CBI सुशांत के उनके मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में संदेहास्पद मौत की जांच कर रही है। यदि पटना हाईकोर्ट CBI की जांच को संतोषजनक नहीं पाती है, तो कोर्ट CBI के निर्देशक और केंद्र सरकार को निर्देश दे। इसमें अनुरोध किया गया है कि कोर्ट जांच कर रही CBI के अधिकारियों को बदल कर वरीय अधिकारियों की नई CBI की टीम को इस मामले की सुनवाई का जिम्मा सौंपा जाए।

हाईकोर्ट इस मामले पर अगली सुनवाई एक सप्ताह बाद करेगा।
हाईकोर्ट इस मामले पर अगली सुनवाई एक सप्ताह बाद करेगा।

साथ ही इस याचिका में मांग की गई कि हाईकोर्ट इस मामले की स्वयं निगरानी करते हुए CBI को समय-समय पर कोर्ट में प्रगति रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया जाए, ताकि जांच जल्द पूरा हो और दोषियों को सजा मिल सके।

याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा कि सुशांत की संदेहास्पद मौत उनके मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट में हुई, लेकिन मुंबई पुलिस ने 45 दिनों तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की। बहुत से लोग संदेह के घेरे में थे, लेकिन जांच में विलंब होने से साक्ष्यों को मिटाने का मौका मिल गया।

बता दें कि सुशांत के पिता कृष्ण किशोर सिंह ने पटना के राजीव नगर थाने में 25 जुलाई, 2020 को प्राथमिकी दर्ज कराई थी, जिसे बाद में CBI को स्थानांतरित किया गया था। इस मामले पर अगली सुनवाई एक सप्ताह बाद की जाएगी।

खबरें और भी हैं...