टीचर बहाली पर फैसला आज:पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई के लिए पहले नम्बर पर रखा केस, नियोजन प्रक्रिया पर लगी रोक हट सकती है

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई के लिए तारीख 28 मई निर्धारित की है। - Dainik Bhaskar
पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई के लिए तारीख 28 मई निर्धारित की है।

बिहार के शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए 28 मई बड़ा दिन होने वाला है। उनके करीब दो साल का इंतजार खत्म होने वाला है। बिहार सरकार की ओर से ब्लाइंड केस की मेंशनिंग का अनुरोध किए जाने के बाद पटना हाईकोर्ट ने सुनवाई के लिए तारीख 28 मई निर्धारित की है। हाईकोर्ट ने अभ्यर्थियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए नेशनल ब्लाइंड फेडरेशन के मामले की सुनवाई 28 तारीख को सबसे पहले नंबर पर रखा है।

राज्य में प्राथमिक और मध्य विद्यालयों के 90,762 पदों और माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालय के 30,020 पदों पर छठे चरण के नियोजन की प्रक्रिया चल रही थी। फिलहाल इस पर हाईकोर्ट ने रोक लगा रखी है। अब हाईकोर्ट यह रोक हटा सकता है।

सरकार की ओर से मेंशनिंग के समय ही एडवोकेट जनरल ने पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष हलफनामा देते हुए कहा था कि दिव्यांग उम्मीदवारों को 4 प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने को बिहार सरकार तैयार है। शिक्षक नियोजन को लेकर ब्लाइंड एसोसिएशन ने हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर की थी और दिव्यांगों के लिए निर्धारित 4 प्रतिशत आरक्षण का लाभ देने की मांग की थी। दूसरी तरफ अभ्यर्थियों ने ट्वीटर पर दो दिनों तक अभियान चलाया कि सरकार जल्द से जल्द मेंशनिंग करे। विपक्ष का भी साथ इन्हें खूब मिला। भास्कर ने खबर को प्रमुखता से सामने लाया। इसके बाद सरकार ने मेंशनिंग की थी।

बहुत संभव है कि पटना हाईकोर्ट बिहार सरकार की ओर से इस मामले में स्थिति स्पष्ट होने के बाद 8 मई को शिक्षक नियोजन प्रक्रिया पर लगी रोक हटा ले। अभ्यर्थियों ने इसके लिए गर्दनीबाग में धरना देने, लाठी सहने से लेकर ट्वीटर तक पर फाइट की है और भास्कर हर कदम पर इनके साथ खड़ा रहा है।

खबरें और भी हैं...