• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna News; Ganga Aarti Again Started After 538 Days At Ganga Ghat In Patna Amidst Enthusiasm

538 दिनों बाद पटना में 'जय हो गंगा मइया...':घाट पर उत्साह के बीच पुजारियों ने मां गंगा से की जन कल्याण की कामना

पटना4 महीने पहले
कोरोना त्रासदी और बाढ़ से मुक्ति की कामना को लेकर 45 मिनट तक मां की आरती चली।

538 दिन बाद शनिवार को पटना में फिर मां गंगा की आरती हुई। पांच पुरोहितों ने आरती करते हुए सुख-समृद्धि के साथ जन कल्याण की कामना की। कोरोना की त्रासदी और बाढ़ से मुक्ति की कामना को लेकर 45 मिनट तक आरती चली। इस बीच, घाट पर लोगों में उत्साह दिखा। पहले मां गंगा का आह्वाहन किया गया। फिर विधि-विधान से आरती की गई।

कोरोना काल में 17 माह से बंद हुई गंगा आरती के शुभारंभ को लेकर पटना में पहले से ही काफी तैयारी की गई थी।
कोरोना काल में 17 माह से बंद हुई गंगा आरती के शुभारंभ को लेकर पटना में पहले से ही काफी तैयारी की गई थी।

गांधी घाट पर साफ-सफाई के साथ बैरिकेडिंग

गांधी घाट को सजाया गया था। कोरोना काल में 17 माह से बंद हुई गंगा आरती के शुभारंभ को लेकर पटना में पहले से ही काफी तैयारी की गई थी। आरती शुरू होते ही मां गंगा के जयकारे लगने लगे। गांधी घाट पर 50% लोगों की उपस्थिति के साथ आरती की अनुमति थी। सुरक्षा को लेकर पुलिस की व्यवस्था की गई थी। शनिवार 4 सितंबर को आरती शुरू हुई है, जो अब हर शनिवार और रविवार को होगी। 14 मार्च 2020 से गंगा की आरती कोरोना के कारण बंद हो गई थी।

50 प्रतिशत लोगों की उपस्थिति का निर्देश था, लेकिन गंगा के प्रति लोगों की आस्था के कारण काफी भीड़ रही।
50 प्रतिशत लोगों की उपस्थिति का निर्देश था, लेकिन गंगा के प्रति लोगों की आस्था के कारण काफी भीड़ रही।

कोरोना काल के बाद पहली बार दिखी आस्था

पटना में राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा शनिवार को आरती शुरू हुई। देश के अन्य गंगा घाटों की तरह गंगा आरती का शुभारंभ पटना में भी श्रद्धा के साथ किया गया। पानी अधिक होने के कारण घाट के ऊपर ही आरती कराई गई है। कोरोना को लेकर 50 प्रतिशत लोगों की उपस्थिति का निर्देश था, लेकिन गंगा के प्रति लोगों की आस्था के कारण काफी भीड़ रही। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति के बाद भी लोगों की आस्था को देखने हुए भीड़ को रोका नहीं जा सका।

मुख्य पुरोहित पंडित मनोज कुमार भट्‌ट ने कहा कि मां गंगा से कामना की गई है कि देश के संक्रमण को पूरी तरह से धो दें। किसी को कोई कष्ट न हो। जिस तरह से मां गंगा लोगों के पाप हरती हैं, उसकी तरह से कोरोना और बाढ़ का संकट भी हर लें। इस दौरान पूर्व मंत्री विनोद नरायण झा भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि यह सौभाग्य है कि देश के महान गंगा घाटों के साथ पटना में भी मां की आरती हो रही है।

खबरें और भी हैं...