• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • People Avoid Social Distancing During Corona Pandemic; Public Wants Lockdown In Bihar

यह चाहते हैं लॉकडाउन, देखिए इनकी लापरवाही:ट्रेन में मास्क लगाए बिना कर रहे हैं सफर; सिपाही बोला- क्या कर लेगा कोरोना, नहीं लगता है डर

भागलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भागलपुर स्टेशन पर ट्रेन के अंदर बिना मास्क के यात्री। - Dainik Bhaskar
भागलपुर स्टेशन पर ट्रेन के अंदर बिना मास्क के यात्री।

पिछले साल का लॉकडाउन याद है न, ट्रेनें बंद हो गई थीं। लोग कहीं आने-जाने के लिए छटपटा गए थे। हजारों लोगों ने सैकड़ों किलोमीटर की यात्रा पैदल की थी। पैरों में छाले पड़ गए थे। उनके छाले दैनिक भास्कर की टीम नहीं भूल सकती। उनका भूखे मरना, किसी तरह अपने घर पहुंचते-पहुंचते दम तोड़ना हम नहीं भूल सकते हैं। इसलिए, हम लगातार सामने ला रहे हैं ऐसी इच्छा रखने वाले लोगों की तस्वीर और उनका वीडियो, जो लॉकडाउन चाहते हैं। पूर्ण लॉकडाउन। क्योंकि, इन्हें कोरोना को रोकने का यही उपाय लगता है। वे यह मानने को तैयार नहीं कि मास्क लगाकर संक्रमण रोकें। 2 गज की दूरी के जरिए कोरोना की चेन बनने से रोकें।

भागलपुर रेलवे स्टेशन: 10 में से 5 दिखे लॉकडाउन चाहने वाले
भागलपुर रेलवे स्टेशन का प्लेटफॉर्म नंबर एक। कई यात्री बिना मास्क के नजर आए। यहां 10 में से औसतन 5 यात्रियों ने ही मास्क पहना था। प्लेटफॉर्म नंबर एक पर खड़ी एक ट्रेन में बैठे कई यात्री मास्क नहीं लगाए हुए थे। कुछ ने पहना था, लेकिन मास्क नाक से नीचे सरका हुआ था। उनसे जब पूछा गया कि क्या आप फिर से लॉकडाउन चाहते हैं तो उनके पास कोई जवाब नहीं था। कई लोगों ने टोकने का बाद जेब से मास्क निकाल कर लगाया।

बच्चों को भी नहीं पहनाया मास्क
इस ट्रेन के एक डिब्बे में कुछ बच्चे भी थे। वे अबोध डिब्बे में उछल-कूद कर रहे थे। उनके हाथ डिब्बे में लगभग सभी जगहों पर जा रहे था। किसी के चेहरे पर मास्क भी नहीं था। उनके माता-पिता भी बेपरवाह बिना मास्क के बैठे थे। इस बात का तनिक भी ख्याल नहीं था कि ये मासूम बड़ी आसानी से संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं।

बिना मास्क के पुलिसकर्मी
भागलपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक पर तैनात बिना मास्क पहने एक सिपाही को भास्कर की टीम ने टोका तो उसने कहा कि हमें डर नहीं लगता, वैसे भी कोरोना क्या कर लेगा। फिर वह बहस करने लगा। तब तक उसके सहयोगी भी चले आए और उसका बीच बचाव करने लगे।