पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Politics Hot In Bihar On Maharani Webseries; JDU Said No Matter How Much Image Building Is Done, Rabri Devi's Tenure Will Be Called Black Chapter

बिहार में महारानी पर राजनीतिक बयानबाजी:JDU ने कहा- कितना भी इमेज बिल्डिंग करवा ले राबड़ी शासनकाल काला अध्याय ही कहा जाएगा, RJD बोली- उन्होंने जो लकीर खींची, वह पढ़ा-लिखा CM भी नहीं कर पा रहा

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल, राजद प्रवक्ता शक्ति यादव और हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने महारानी वेब सीरीज पर दिया बयान। - Dainik Bhaskar
जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल, राजद प्रवक्ता शक्ति यादव और हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने महारानी वेब सीरीज पर दिया बयान।

महारानी वेब सीरीज को लेकर बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। भास्कर में फिल्म समीक्षक विनोद अनुपम का इंटरव्यू आने के बाद राजनीति में बयानबाजी तेज हो गई है। प्रदेश की दो मुख्य पार्टियां राजद और जदयू अपने अपने तर्क देकर अपनी बातें रख रही हैं। इस मसले पर भास्कर ने दो मुख्य पार्टियों JDU और RJD से बात की।

फैक्ट से दूर है वेब सीरीज

JDU प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा कि महारानी वेब सीरीज देखी है। राबड़ी देवी घरेलू महिला के तौर पर सम्मान जनक हैं, लेकिन बतौर मुख्यमंत्री उनके कार्यकाल को बिहार के इतिहास में काला अध्याय ही कहा जाएगा। फिल्मों, पोस्टर-बैनर से RJD राबड़ी देवी को या किसी अन्य को कितना भी ग्लैमराइज्ड कर दें। कहे कि उन्होंने जंगलराज नहीं दिया, बल्कि बेहतर शासन दिया तो यह झूठ होगा। क्योंकि आज पुरानी चीजों को जानने के लिए इतने सारे माध्यम हैं कि सच छिप नहीं सकता।

उन्होंने कहा कि फिल्म को मसालेदार बनाने के लिए कुछ चीजें यूं ही डाल दी गई हैं। जातीय हिंसा को दिखाया गया है। ठीक है कि 90 के दशक में बहुत-सी घटनाएं वैसी हुई थीं, लेकिन आज के दौर में समाज में सभी को बराबरी से जीने का अधिकार है। राबड़ी देवी को इसमें ग्लैमराइज्ड किया गया है। कई चीजें ऐसी दिखाई गई है, जो उन्होंने किया ही नहीं है। यह वेब सीरीज फैक्ट से दूर है।

नवीन कुमार की सारी हरकतें नीतीश कुमार से मिलती-जुलती

RJD के प्रवक्ता शक्ति यादव ने कहा कि अभी की नीति आयोग की रिपोर्ट और तत्कालीन मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के समय की रिपोर्ट की तुलना करें तो नीतीश कुमार एक फिसड्डी मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। महारानी वेब सीरीज में नीतीश कुमार, नवीन कुमार के रूप में हैं। नीतीश कुमार की कारगुजारी, प्रतिदिन की कांस्पिरेसी, जाति-जाति के बीच द्वेष, लोगों को प्रताड़ित करना और सत्ता को बदनाम करने की पटकथा प्रथम दृश्टया इसमें साफ दिखती है। रहा सवाल राबड़ी देवी पढ़ी-लिखी नहीं हैं तो उस समय की परिस्थितियां उस तरह की थी कि वह स्कूल नहीं जा पााईं। हालात वैसे नहीं थे।

कहा कि वर्तमान के पढ़े-लिखे लोगों से बेहतर लकीर उन्होंने खींची थीं। RBI के तत्कालीन गवर्नर ने राबड़ी देवी के कार्यकाल के बिहार के आर्थिक मैनेजमेंट को सराहा था। कहा कि नीतीश कुमार ने राबड़ी देवी और लालू प्रसाद के शासनकाल के बारे में अगड़ी जातियों को उकसाकर उनमें घृणा का भाव पैदा किया था।

15 साल में बिहार बहुत पीछे छूट गया

हम पार्टी प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि लालू-राबड़ी के समय जातीय हिंसा को बढ़ावा दिया गया था। वह सब इसमें दिखता है। 15 साल के जंगल राज में विकास की जगह जात-पात की सत्ता चलाई गई। विकास बहुत पीछे छूट गया।

खबरें और भी हैं...