• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Private Schools And Children Welfare Association And Rotary India Literacy Mission Will Run The Campaign

बिहार के 50 लाख व्यस्कों को शिक्षित किया जाएगा:प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिशन और रोटरी इंडिया लिटरेसी मिशन चलाएगा अभियान

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेल्फेयर एसोसिएशन की ओर से प्रेस कांफ्रेस - Dainik Bhaskar
प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेल्फेयर एसोसिएशन की ओर से प्रेस कांफ्रेस

प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन एवं रोटरी इंडिया लिटरेसी मिशन की ओर से 24 और 25 सितंबर 2022 को कोलकाता के होटल रेडिसन में दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर नई शिक्षा निति के अंतर्गत भारत के 5 करोड़ से ज्यादा अशिक्षित व्यस्कों को शिक्षित करने की योजना पर चर्चा होगी।

इस मौके पर देश भर के सभी राज्यों के प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेल्फेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष और रोटरी इंडिया लिटरेसी मिशन की केंद्रीय समिति के पदाधिकारी इस कार्यशाला में भाग लेंगे। यह जानकारी प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेल्फेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने प्रेस कांफ्रेस में दी। प्रेस कांफ्रेस में कन्हैया प्रसाद, पंकज किशोर सिंह, रासबिहारी प्रसाद और फोजिया खान उपस्थित रहीं।

तीन माह में यह लक्ष्य हासिल किया जाएगा

बताया गया कि कार्यशाला का नेतृत्व मुख्य रूप से रोटरी वर्ल्ड के अध्यक्ष रोटेरियन शेखर मेहता और प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सैयद शमायल अहमद करेंगे। इसमें देश भर के दो लाख से ज्यादा एसोसिएशन से जुड़े निजी विद्यालयों में पढ़ रहे छठी से ऊपर तक के छात्र-छात्राएं तीन माह के भीतर अपने परिवार और आसपास के अशिक्षित व्यस्कों को पढ़ाने का काम करेंगे। एसोसिएशन और रोटरी के द्वारा उन छात्रों को पढ़ाने के लिए सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा। जो वयस्क शिक्षा लेंगे उनको भी शिक्षित होने का सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा। इसी संदर्भ में बिहार राज्य में 50 लाख अशिक्षित व्यस्कों को पढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है।

पीएम नरेन्द्र मोदी से उद्घाटन का आग्रह किया जाएगा

शमायल अहमद ने बताया कि इस कार्यशाला के बाद अगले महीने इसका राष्ट्रीय स्तर पर औपचारिक उद्घाटन करने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया जाएगा। कार्यशाला में भाग लेने के लिए प्रथम चरण के लिए चयनित किए गए मुख्य राज्यों मे से बिहार, राजस्थान, झारखंड, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, जम्मू एंड कश्मीर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, आसाम, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटका, उत्तराखंड, उड़ीसा, पंजाब और वेस्ट बंगाल के प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के राज्य प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।

खबरें और भी हैं...