प्रतिरोध मार्च में 5 घंटे तीखी धूप में रहे तेजस्वी:सगुना मोड़ से 10KM की यात्रा पर निकले थे, कहा - हिला-हिलाकर सरकार को गिराएंगे

पटना6 महीने पहलेलेखक: प्रणय प्रियंवद
बेरोजगारी रथ पर सवार होकर निकले तेजस्वी यादव।

तेजस्वी यादव सुबह साढ़े 10 बजे अपनी मां पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास से युवा क्रांति रथ पर सवार होकर पटना के सगुना मोड़ के लिए निकले। राबड़ी देवी ने रथ को हरी झंडी दिखायी और पार्टी के सभी नेताओं-कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर केन्द्र के खिलाफ लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। तेजप्रताप यादव ने कुछ दूर तक बस की स्टेयरिंग संभाली। मुख्य रुप से बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी के सवाल पर यह प्रतिरोध मार्च किया गया। सगुना मोड़ से गांधी मैदान तक इसे जाना था लेकिन पुलिस ने इसे डाकबंगला चौराहा पर रोक दिया।

तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन द्वारा रविवार को प्रतिरोध मार्च निकाला गया।
तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन द्वारा रविवार को प्रतिरोध मार्च निकाला गया।

तेजस्वी ने नारा लगवाया- भाजपा भगाओ, देश बचाओ
लगभग 10 किमी की यात्रा में ज्यादा समय तेजस्वी बस की छत पर सवार रहे और हाथ जोड़कर तो कभी हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन करते रहे। नीचे कार्यकर्ताओं का हुजूम चलता रहा। इनकम टैक्स चौराहा पर वे बस से उतरे और जेपी की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। इनकम टैक्स चौराहा से डाकबंगला चौराहा तक तेजस्वी कार्यकर्ताओं के साथ पैदल चले।

तेजस्वी यादव ने डाकबंगला चौराहा पर कहा कि केन्द्र सरकार ने महंगाई को इतना बढ़ा दिया है कि लोगों का जीना मुहाल हो गया है। केन्द्र की सरकार किसी भी हालत में गिरा कर रहना है और जनता की सरकार बनाना है। उन्होंने नारा लगवाया - भाजपा भगाओ, देश बचाओ। कहा इस गूंगी बहरी सरकार को जनता सबक सिखाएगी। कहा कि हिला-हिला कर सरकार को गिराएंगे।

पांच घंटे तक तीखी धूप में रहे तेजस्वी
प्रतिरोध मार्च लगभग पांच घंटे तक चला और तीखी धूप के बावजूद तेजस्वी यादव डटे रहे। उनके साथ उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव, पूर्व मंत्री श्याम रजक, दानापुर के विधायक रीत लाल यादव आदि नेता बस पर से लोगों का अभिवादन करते दिखे। सगुना मोड़ पर इतना ट्रैफिक हो गया कि प्रशासन को भी जाम हटाने में पसीने छूटे। सगुना मोड़ पर एंबुलेंस को निकलने में भी काफी परेशानी हुई।

राजद महिला प्रकोष्ठ नेताओं ने चूड़ा दिखाकर किया विरोध
प्रतिरोध मार्च में कई तरह के नजारे दिखे। बैलगाड़ी और टमटम भी बुलाए गए थे। राजद सांस्कृतिक प्रकोष्ठ की ओर से महंगाई गीत गाया गया। एआईएसएफ नेता अमन कुमार ने महंगाई गीत गाया - महंगाई की महामारी ने हमारा भट्ठा बैठा दिया.. हमरे ही खून से इनका चले इंजन धकाधक....आम आदमी की जेब हो गई है सफाचट....

राजद महिला प्रकोष्ठ की ओर से चूड़ी दिखाकर कहा गया कि स्मृति ईरानी जी आप नरेन्द्र मोदी जी तक चूड़ियां पहुंचा दें। गैस सिलेंडर भरवाना अब आम महिलाओं के बस की बात नहीं रह गई है। माले नेता धीरेन्द्र झा लाउडस्पीकर गाड़ी से महंगाई और बेरोजगारी के सवाल पर केन्द्र सरकार के खिलाफ नारे लगवाता रहे।

कांग्रेस का झंडा आधी दूरी के बाद दिखना शुरू हुआ। वह भी काफी कम संख्या में। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सुबह के समय इनकम टैक्स से डाकबंगला के बीच दिखे। कांग्रेस नेता डॉ. शकील अहमद खान तेजस्वी के साथ डाकबंगला चौराहा पर दिखे। तेजस्वी ने इतनी धूप में प्रतिरोध मार्च निकालकर यह बताने की कोशिश की कि वे ट्वीटर नेता नहीं हैं।