पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Rahul Gandhi Bihar Congress MLA's And Party Leader Anil Sharma Meeting In Delhi Today

बिहार के कांग्रेस नेताओं से मिल रहे आलाकमान:सोशल इंजीनियरिंग की मांग करने वाले अनिल शर्मा से सबसे पहले मिले राहुल गांधी, 19 MLA और 3 MLC के साथ शाम में मीटिंग

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली में बिहार प्रभारी भक्त चरण दास के प्रीतिभोज में शामिल कांग्रेस के नेता। - Dainik Bhaskar
दिल्ली में बिहार प्रभारी भक्त चरण दास के प्रीतिभोज में शामिल कांग्रेस के नेता।

बिहार कांग्रेस के नेताओं से बुधवार सुबह से ही राहुल गांधी ने मिलना शुरू कर दिया है। राहुल गांधी ने सबसे पहले सुबह 9:15 बजे कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा से मुलाकात की। अनिल शर्मा ने ही बिहार कांग्रेस के संगठन में सोशल इंजीनियरिंग का फार्मूला इस्तेमाल करने की मांग की है। बिहार के कांग्रेस नेताओं में सबसे पहले मुलाकात के लिए अनिल शर्मा को ही बुलाया गया।

वहीं, राहुल गांधी कांग्रेस के 19 MLA और 3 MLC से शाम 4 बजे मीटिंग करेंगे। राहुल गांधी से मुलाकात से पहले बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने बिहार के नेताओं को प्रीति भोज पर आमंत्रित किया।

सोशल इंजीनियरिंग पर हुई चर्चा

अनिल शर्मा पहले से ही संगठन में सवर्णों के साथ-साथ पिछड़ा, अति पिछड़ा, महिला आदि सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व देने की मांग कर चुके हैं। इस मुद्दे पर उन्होंने कई ट्वीट भी किए थे। राहुल गांधी से मुलाकात के बाद भास्कर ने अनिल शर्मा से बातचीत की।

अनिल शर्मा ने बताया कि उन्होंने राहुल गांधी को बिहार की सोशल इंजीनियरिंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। बिहार में सवर्णों ने 2019 की तरह 2020 में NDA को समर्थन नहीं दिया, लेकिन यादवों को छोड़कर बाकी पिछड़ी, अति पिछड़ी जातियां या बनिया समाज के बहुसंख्यक मतदाताओं ने NDA का पूरा साथ दिया।

2024 के लिए कांग्रेस की तैयारी

अनिल शर्मा ने यह भी बताया कि राहुल गांधी से हुई मुलाकात में संगठन के बदलाव पर कोई चर्चा नहीं हुई। उन्होंने यह जरूर बताया कि तमाम वर्गों को साथ लाने की जरूरत है, ताकि आने वाले 2024 के चुनाव में कांग्रेस एक सशक्त दल के रूप में उभरे और केन्द्र में कांग्रेस के नेतृत्व में सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका अदा कर सके।

पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस की चिंता यह है कि बिहार में कांग्रेस किस तरह से सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरे। बिहार में वोट बैंक की राजनीति का सच यहां की जाति और यहां का धर्म बड़े रूप में है। इसलिए आने वाले समय में बहुत संभव है कि कांग्रेस सोशल इंजीनियरिंग पर पूरा फोकस करेगी।

कई वरिष्ठ नेताओं ने भी की मुलाकात

लोकसभा के पूर्व स्पीकर मीरा कुमार, पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार, वरिष्ठ नेता शकील अहमद आदि कई नेताओं ने भी राहुल गांधी से मुलाकात की और बिहार की वर्तमान राजनीति और भविष्य की राजनीति के बारे में अवगत कराया है।

बुधवार को राहुल गांधी के साथ हुई बैठक से पहले अनिल शर्मा, मीरा कुमार और निखिल कुमार आपस में बैठक कर चुके हैं और कई मुद्दों पर एकमत भी हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...